Up: कैबिनेट मंत्री बोले- किसानों के हुनर और शक्ति को जगाने का हो रहा प्रयास

प्रयागराज: प्रयागराज के भगवतपुर ब्लॉक में के कृषि मेला कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने शिरकत की। ये कार्यक्रम यूपी सरकार के चार साल पूरा होने के मौके पर आयोजित किया जा रहा था।

इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कैबिनेट मंत्री ने कहा कि हमारी सरकार किसानों के हुनर और शक्तियों को जगाने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि एफपीओ के गठन होने से किसानों के जीवन में क्रांति का जयघोष होगा।

देश का मजबूत स्तंभ हैं किसान: सिद्धार्थनाथ सिंह

कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि किसान देश के विकास का मजबूत स्तंभ है। किसानों ने यूपी की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में अपना योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि किसानों की जिंदगी में हमेशा परेशानियां रही हैं।

हमने इन परेशानियों को समझा है तभी केंद्र की मोदी सरकार और प्रदेश की योगी सरकार तेजी से किसानों को समस्याओं को हल कर रही है। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि दोनों सरकारें छोटे और मझौले दोनों किसानों के लिए फिक्रमंद है।

‘22,500 किसानों को मिला योजना का लाभ’

उन्होंने कहा कि भगवतपुर ब्लॉक में 22,500 किसान चार किस्तों के साथ किसान सम्मान योजना से लाभान्वित हुए हैं। चार सालों में भगवतपुर ब्लॉक के 56,000 किसानों को फसल ऋण मोचन के तहत ऋण माफ हुए हैं।

एफपीओ में प्रत्येक किसान दो हजार जमा कर समूह बनाते हैं तो 15 लाख का ट्रैक्टर आता है,और 15 लाख का अनुदान भी सरकार देती है तो किसानों को सीधा लाभ मिलता है।

मशरूम की खेती के बारे में किसानों को बताया

भेड़ पालकों के दर्द को पिछली सरकारों ने नहीं समझा। भगवतपुर में ही पाल समुदाय को दर्द को देखकर मैंने भेड़ पालकों की आय को बढ़ाने के लिए गांव गांजा में ऊन प्रोसेसिंग यूनिट स्थापित कराने का संकल्प लिया। जल्द शुरू होने जा रहा है। जिसमें धागा बनकर उत्तर प्रदेश के सात कंबल फैक्ट्रियों में जाएगा, तो पालों के जीवन में खुशहाली आएगी।

एफपीओ गठन के फायदे बताते हुए उन्होंने कहा मशरूम की खेती के लिए 3 दिन का नैनी में प्रशिक्षण ले और प्रशिक्षण उपरांत गमलों आदि स्थानों में मशरूम की खेती करें और अपनी आय दुगनी करें। केले के छिलके से घागे बनाने का उद्योग स्थापित कराने का प्रयास है।जिससे शहर पश्चिमी के किसानों को भटकना नहीं पड़ेगा।

‘बिचौलियों को हर क्षेत्र से किया बाहर’

उन्होंने किसानों से कहा कि वो अपने हाथों के हुनर को पहचाने और शक्तिशाली बने। एफपीओ के जरिए संगठित होकर किसानों की मुट्ठी एक होगी तो सरकार भी मदद करने के लिए तैयार है।

उन्होंने कहा कि किसान भाइयों, दो कदम बढ़ो, तो सरकार 3 कदम बढ़ कर पांच कदम होने से जीवन में खुशहाली आएगी l इसमें बिचौलियों का कोई स्थान नहीं है, पंजाब में बिचौलिए ही लड़ रहे हैं। प्रयागराज में दो एफपीओ को 1 करोड़ 80 लाख रुपए की अनुदान दिया गया है।

‘किसानों की आय जल्द होगी दोगुनी’

कैबिनेट मंत्री ने कहा कि उन्हें खुशी है इस शहर पश्चिमी में 2 माह पहले आया था तो एक भी एफपीओ नहीं थे, आज सात एफपीओ गठित हो रहे हैं।

क्रांति तभी आएगी जब किसान एक समूह एफपीओ बनाकर सरकार की योजनाओं का लाभ उठाएं और आधुनिक तकनीक के माध्यम से खेती करके किसान की आय दुगनी करने से कोई रोक नहीं सकता।

इससे पहले कृषि विभाग प्रयागराज द्वारा आयोजित कृषि मेला कार्यक्रम का मा0 सिद्धार्थ नाथ सिंह ने फीता काटकर दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

कक्षा 6 में अध्ययनरत आशा रधुवंशी ने टूटी माला जैसे किसान किस्मत की गीत सुनाकर भावविभोर कर किया। प्रदर्शनी निरीक्षण के दौरान कृष्णा आजीविका विकास अकबरपुर मिर्जापुर की शिवानी शर्मा के बनाए चप्पलों को पूर्व प्रधान श्रीप्रकाश तिवारी ने मंत्री के निर्देश पर सभी चप्पल खरीद लिए।

ललितपुर: शराब की दुकान के खिलाफ करणी सेना का हल्‍ला बोल, महिलाओं ने की तोड़फोड़

Previous article

कोरोना काल में पौष्टिक आहार की अहमियत जान गए लोग: डॉ. शर्मा

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured