featured यूपी

उन्‍नाव केस में सामने आई पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट, हुआ ये अहम खुलासा

उन्‍नाव केस में सामने आई पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट, हुआ ये अहम खुलासा

उन्‍नाव: जिले के असोहा थाना क्षेत्र के बबुरहा गांव में दो लड़कियों की मौत का मामला लगातार तूल पकड़ रहा है। तीसरी लड़की का कानपुर के रिजेंसी हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है, जो जिंदगी के लिए जूझ रही है।

यह भी पढ़ें: यूपी विधानसभा का बजट सत्र , सदन में विपक्ष का हंगामा 

इसी बीच दोनों मृत लड़कियों की पोस्टमार्टम आ गई है। शुरुआती जांच रिपोर्ट में जहरीला पदार्थ खाने से मौत की पुष्टि हुई है। रिपोर्ट के मुताबिक, दोनों ने मौत से करीब 6 घंटे पहले खाना खाया था। डॉक्टर्स ने शरीर से मिले जहरीले पदार्थ के सैंपल को जांच के लिए लैब भेज दिया है। पोस्‍टमार्टम के लिए प्रशासन ने चार डॉक्‍टर्स का पैनल बनाया था।

गांव छावनी में तब्‍दील, धरने पर बैठे ग्रामीण  

वहीं, विपक्ष हॉस्पिटल में भर्ती लड़की को दिल्ली एयरलिफ्ट करने की मांग कर रहा है। पुलिस ने बबुरहा गांव छावनी में तब्दील कर दिया है। जगह-जगह बैरियर लगा दिए गए हैं और चप्पे-चप्पे पर पुलिसकर्मी तैनात हैं। यही नहीं, मीडियाकर्मी भी मृतकों के परिजनों से नहीं मिल पा रहे हैं। इसके अलावा परिजनों को धरना स्‍थल से हटाए जाने के विरोध में ग्रामीण धरने पर बैठ गए हैं।

पुलिस के आलाधिकारी मौके पर मौजूद

बबुरहा गांव में सुरक्षा व्‍यवस्‍था के मद्देनजर क्षेत्राधिकारी हसनगंज, क्षेत्राधिकारी बांगरमऊ भी मौके पर मौजूद हैं। इसके अलावा एडीएम, एसडीएम व विधायक अनिल सिंह भी गांव पहुंचे हैं। मृत लड़कियों के शव दफनाने के लिए जेसीबी मंगाई गई है, लेकिन सपाइयों और ग्रामीणों ने जेसीबी रोकते हुए नारेबाजी शुरू कर दी है।

घटना पर स्वाति मालीवाल ने का ट्वीट

इस घटना पर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने ट्वीट किया। उन्‍होंने लिखा- ‘उन्नाव की तीसरी बेटी को तुरंत इलाज के लिए दिल्ली शिफ्ट किया जाए। हर हाल में बच्ची को बचाना है।’

 

 

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने ट्वीट करते हुए लिखा- ‘सरकार जान ले उन्नाव में हम, हाथरस नहीं दोहराने देंगे।’

 

 

राहुल गांधी का योगी सरकार पर निशाना

कांग्रेस के पूर्व राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए न्‍याय दिलाने की बात कही।

 

 

वहीं, गुजरात के निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी ने वीडियो शेयर करते हुए न्याय के लिए दबाव बनाने की अपील की है।

 

 

घटना के खुलासे के लिए 6 टीमों का गठन

उधर, उन्नाव एसपी आनंद कुलकर्णी ने जानकारी देते हुए बताया कि, घटना के खुलासे के लिए पुलिस की छह टीमें गठित की गई हैं। इसके अलावा स्वाट व सर्विलांस टीमें भी काम कर रही हैं। उन्‍होंने कहा कि घटना से जल्द ही पर्दा उठाया जाएगा।

 

 

क्‍या है पूरा मामला?

गौरतलब है कि बुधवार देर शाम तीन नाबालिग दलित लड़कियां असोहा थाना क्षेत्र के बबुरहा गांव के एक खेत में बेहोश मिली थीं। इनमें दो की मौत हो चुकी थी, जबकि एक को सीएचसी से जिला अस्पताल और उसके बाद कानपुर रीजेंसी अस्‍पताल रेफर किया गया। इलाज के 12 घंटे बाद भी उसकी हालत गंभीर है। लड़की बैग और ट्यूब वेंटिलेशन पर है और चाइल्ड केयर यूनिट उसका गंभीरता से इलाज कर रही है।

Related posts

लगातार दूसरे दिन बढ़े डीजल के दाम, पेट्रोल स्थिर

Neetu Rajbhar

माघी पूर्णिमा के लिए ट्रैफिक सिस्टम तैयार, भक्तों को नहीं होगी दिक्कत

Aditya Mishra

नीतीश के जन नेता वाले बयान पर लालू ने लगाया सवालिया निशान

Rani Naqvi