प्रयागराज पुलिस की नई पहल, अब पीड़ितों को खुद ढूंढेगी पुलिस

प्रयागराज: उत्‍तर प्रदेश में त्रिस्‍तरीय पंचायत चुनाव को देखते हुए प्रयागराज पुलिस ने एक नई पहल शुरू की है। यहां पुलिसकर्मियों की एक ऐसी टीम का गठन किया गया है, जो पीड़ित लोगों को खुद ही ढूंढेगी।

संगम नगरी में सकारात्मक पुलिसिंग के मद्देनजर 40 पुलिसकर्मियों की एक टीम का गठन किया गया है, जो ग्रामीण इलाकों में फोन करके लोगों से उनकी समस्याएं पूछेगी। यही नहीं, उनकी समस्‍याओं का तुरंत निस्तारण भी किया जाएगा, जिसकी मॉनिटरिंग खुद डीआइजी करेंगे।

उन्‍मेष-2021 कॉल सेंटर का शुभारंभ

पुलिसकर्मियों की इस टीम के प्रशिक्षण शिविर उन्‍मेष-2021 का शुभारंभ आइजी केपी सिंह ने किया। वहीं, ‘उन्मेष-2021 कॉल सेंटर’ की शुरुआत फीता काटकर डीआइजी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने की। उन्‍होंने बताया कि, अभी तक पीड़ित व्‍यक्ति पुलिस के पास आता है और उसकी शिकायत पर कार्रवाई होती है। मगर, सकारात्मक पुलिसिंग के तहत अब पीड़ित व्यक्ति को पुलिस खुद ही ढूंढेगी।

उन्‍होंने बताया कि, चुनाव के मद्देनजर ग्रामीण इलाकों में चल रही अवैध गतिविधियों पर नजर रखने के लिए 40 पुलिसकर्मियों की टीम बनाई गई है। पुलिस लाइन स्थित इस कंट्रोल रूम में बैठे पुलिसकर्मी सभी थाना क्षेत्रों के ग्रामीण इलाकों में संपर्क करके जानकारी एकत्र करेंगे, उसे रजिस्टर पर अंकित करेंगे। इसके लिए डाटा बैंक पहले से ही तैयार कर लिया गया है।

पुलिस की गलती का भी चलेगा पता

डीआइजी की मानें तो हजारों लोग विभिन्न थाना क्षेत्रों के सीयूजी नंबर पर बने ग्रुप में जुड़े हैं। इसके अलावा अन्य संभ्रांत लोगों की मदद से डाटा बैंक तैयार करके ग्रामीणों से संपर्क किया जा रहा है। रजिस्टर पर अंकित होने वाले सभी समस्याओं का रोज डीआइजी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी निगरानी करेंगे। इससे पता चल जाएगा किस इलाके में क्या समस्या है। साथ ही साथ यह भी पता चलेगा कि कहां पर पुलिस गलत कर रही है।

मेरठ: छात्रा से गैंगरेप के बाद हत्या का दूसरा आरोपी गिरफ्तार, दो की तलाश जारी

Previous article

जम्मू-कश्मीर: सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, 4-5 आतंकी छिपे होने की आशंका

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured