WhatsApp Image 2021 01 29 at 4.52.36 PM भारत-पाकिस्तान तनाव को लेकर बोले संयुक्त राष्ट्र महासचिव, कहा- नियंत्रण रेखा पर तनाव कम होना आवश्यक
फाइल फोटो

नई दिल्ली। जैसा कि सभी जानते हैं भारत का पड़ोसी मुल्कों पाकिस्तान और चीन के साथ सीमा को लेकर तनाव चलता रहता है। तनाव की स्थिति आए दिन दोनों देशों के सैनिकों के बीच देखने को मिल ही जाती है। जानकारी के लिए बता दें कि पाकिस्तान की तरफ से आए दिन सीजफायर का उल्लघंन होता रहता है। पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आता और हर बार मुंह की खाता है। इसी बीच अब संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने कहा है कि यह बहुत ही आवश्यक है कि भारत और पाकिस्तान एक साथ आएं और अपनी समस्याओं पर गंभीरता से बात करें। इसके साथ ही गुतारेस ने कहा कि दोनों देशों के बीच किसी प्रकार का सैन्य टकराव उनके लिए तथा पूरी दुनिया के लिए विनाशकारी होगा।

दोनों देश अपनी समस्याओं पर गहराई से बात करें- एंटोनियो गुटेरेस

बता दें कि भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़ते तनाव को देखते हुए आए दिन बयान सुनने को मिल ही जाते है। क्योंकि जब किन्हीं देशों में लड़ाई होती है तो उसका असर लगभग-लगभग सभी देशों पर पड़ता है। जिसके चलते संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने कहा है कि यह बहुत ही आवश्यक है कि भारत और पाकिस्तान एक साथ आएं और अपनी समस्याओं पर गंभीरता से बात करें। इसके साथ ही संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने कहा कि मैंने जो वक्तव्य में कहा, दुर्भाग्य से वही बात मैं आज कह सकता हूं। मेरा मानना है कि नियंत्रण रेखा पर तनाव कम होना बहुत ही आवश्यक है। इसके साथ ही गुटेरेस ने गुरुवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मेरा खयाल है कि यह बहुत ही आवश्यक है कि दोनों देश एक साथ आएं और अपनी समस्याओं पर गहराई से बात करें। मेरा खयाल है कि जिनका भी आपने जिक्र किया है उन सभी क्षेत्रों में मानवाधिकारों का पूरा सम्मान हो।

शांतिपूर्ण समाधान निकाले जाएं- एंटोनियो गुटेरेस

इसके साथ ही एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि अब चीजें सही दिशा में बढ़ रही हैं। हमारे कार्यालय हमेशा उपलब्ध हैं और हम कहना चाहते हैं कि ऐसी समस्याएं जिनका कोई सैन्य समाधान नहीं है उनके शांतिपूर्ण समाधान इनके माध्यम से निकाले जाएं।

ममता बनर्जी को फिर लगा झटका, राजीव बनर्जी ने विधायक पद से दिया इस्तीफा

Previous article

हरिद्वार: कुंभ मेले में अनोखी पहल, इस्तेमाल किए गए कुकिंग तेल से बनेगा बायोडीजल

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.