chander 1 5 जून को 3 घंटे 18 मिनट तक रहेगा चंद्रग्रहण का असर भूलकर भी न करें ये काम..

5 जून को चंद्रग्रहण लगने वाला है। जिसका असर सभी राशियों पर पड़ेगा। ये ग्रहण पूरे 3 घंटे 18 मिनट तक रहेगा। इस स्थिति में चांद पर धुंधली सी परत नजर आती है। चांद के आकार पर कोई असर नहीं पड़ेगा। मगर पूर्णमासी की वजह से चांद की खूबसूरती अपने शबाब पर होगी।
रात 11:23 मिनट पर चंद्रग्रहण शुरू होगा। जो देर रात 2:34 बजे तक रहेगा। ज्योतिषविदों का कहना है कि यह एक उपछाया चंद्र ग्रहण है जिसमें सामान्य क्रियाकलापों पर ज्यादा पाबंदियां नहीं होती हैं।

chander 2 5 जून को 3 घंटे 18 मिनट तक रहेगा चंद्रग्रहण का असर भूलकर भी न करें ये काम..

सामान्य ग्रहण की तरह इसमें सूतक काल भी नहीं होता है। ज्योतिर्विदों का कहना है कि इस ग्रहण काल का असर मेष, वृषभ, सिंह, कन्या, तुला, मकर, कुंभ और मीन राशि के जातकों पर सबसे ज्यादा होगा।

यह ग्रहण वृश्चिक राशि और ज्येष्ठा नक्षत्र में लगने जा रहा है। चक्कर लगाने के दौरान जब चंद्रमा धरती और सूर्य के बीच में आ जाता है तो चंद्रग्रहण होता है। एक कैलेंडर वर्ष में छह से सात ग्रहण लगते हैं। इनमें सूर्यग्रहण और चंद्रग्रहण दोनों शामिल होते हैं।

चलिए आपको 5 जून को लगने वाले चंद्र ग्रहण के प्रभावों के बारे में बताने हैं।
मेष
मेष राशि वालों के 8वें घर में ये चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है। 8वां घर धन से जुड़ा होता है। ऐसे में आपको रुपये-पैसे के मामले में दिक्कत होंगी। इस बीच कच्चे दूध का दान करने से और हनुमान चालीसा का पाठ करने से आपको लाभ हो सकता है।

वृषभ
इस ग्रहण का असर आपके व्यापार पर पड़ सकता है। आर्थिक नुकसान होने के योग बन रहे हैं। सेहत का भी खास ध्यान रखने की जरूरत है। खान-पान को लेकर सतर्कता बरतें।

मिथुन
मिथुन राशि के जातकों के लिए इस ग्रहण को शुभ माना जा रहा है। राशि के छठे घर में यह ग्रहण लगेगा। आप रोग मुक्त होंगे और तमाम तरह की परेशानियां, चिंताएं दूर होंगी। धन के लेन-देन में सावधानी बरतने की आवश्यकता है।

 कर्क
कर्क राशि के 5वें घर में ग्रहण लगेगा। प्रेम संबंधों में दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। परेशानियां बढ़ सकती हैं। संतान से जुड़ी समस्याएं होंगी। मां के चरण छूकर उनका आशीर्वाद लेने से आपके बिगड़े काम संवरेंगे।

सिंह
सिंह राशि के जातकों के चौथे घर में चंद्र ग्रहण लगेगा। इस ग्रहण का असर घर के सदस्यों पर पड़ सकता है। खासतौर पर मां के स्वास्थ्य की चिंता करने की जरूरत है। परिवार के सदस्यों के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी बढ़ सकती है। घर में पारद शिवलिंग लेकर आने से सब सही हो सकता है।

कन्या
कन्या राशि के तीसरे घर में चंद्र ग्रहण लगेगा। आपकी यात्राएं स्थगित होंगी। आप चाहकर भी लाभ से जुड़ी यात्राएं नहीं कर पाएंगे। आपके निजी जीवन पर भी असर बुरा असर देखने को मिल सकता है। गणेश घर लाने से चिंताएं दूर होंगी।

तुला
तुला राशि वालों के दूसरे घर में यह ग्रहण लगने जा रहा है। इस दौरान धन की समस्या आपको घेरकर रखेगी। कर्ज देने से बचें। पैसा वापस आने की संभावनाएं बहुत कम है या उसके वापस आने में कष्ट हो सकता है। इसके अलावा आपके कार्यक्षेत्र में बाधाएं और सीनियर्स से वाद-विवाद बढ़ सकते हैं। शिवलिंग की पूजा करें और हल्दी का दान जरूर करें।

वृश्चिक
5 जून को होने वाला चंद्र ग्रहण वृश्चिक राशि में ही लगने जा रहा है। उपछाया ग्रहण होने की वजह से आपको बहुत ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है। मानसिक तनाव बढ़ सकता है. घर में झगड़े बढ़ सकते हैं। भगवान शिव की आराधना करें और ‘ओम नम: शिवाय मंत्र का जाप करें।

धनु
धनु राशि के 12वें घर में यह ग्रहण लगने जा रहा है। ग्रहण का समय इस राशि के जातकों लिए बेहद चुनौतीपूर्ण रहेगा। इस दौरान सोच-समझकर निर्णय लें। भगवान शिव की पूजा करें और शिवलिंग पर पंचमुखी रूद्राक्ष चढ़ाएं। ऐसा करने से आपके जीवन में चल रहे संकटों से मुक्ति मिलेगी।

मकर
मकर राशि के 11वें घर में ग्रहण लगने जा रहा है. मित्रों के हाथों आपको धोखाधड़ी, जालसाजी या षड़यंत्र का शिकार होना पड़ सकता है। ग्रहण के असर से आपको आर्थिक नुकसान हो सकता है। वैवाहिक जीवन में जीवनसाथी से मनमुटाव भी हो सकता है। इस दौरान कच्चे दूध का दान करें और महा मृत्युंजय मंत्र का जाप करें।

कुंभ
कुंभ राशि के 10वें घर में यह ग्रहण होगा। इस दौरान आपको व्यापार में नुकसान हो सकता है। काम-धंधे में दिक्कतें आ सकती हैं। शत्रु पक्ष हावी रहेगा। सेहत के मामले में भी यह ग्रहण अच्छा नहीं है। परिजनों की सेहत गड़बड़ हो सकती है। उनका ख्याल रखें। करियर के मामले में भी झटका लग सकता है. ‘ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः’ मंत्र का जाप करने से आपको फायदा हो सकता है।

https://www.bharatkhabar.com/another-woman-died-of-corona-virus/
इसलिए ग्रहण के समय कुछ भी ऐसा न करें जो आपके ऊपर गलत असर डाले। सोचसमझकर ही फैसला लें।

मेरठ मेडिकल कॉलेज में बुधवार को कोरोना से एक और महिला की मौत, मरने वालों की संख्या 29 हुई

Previous article

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने स्काईप पर मीडिया से बात की, गिनाई मोदी सरकार की उपलब्धियां

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured