Breaking News featured देश

उमर खालिद को UAPA के तहत किया गिरफ्तार

उमर खालिद

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के पूर्व छात्र नेता उमर खालिद को गिरफ्तार किया हैं। उमर को गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम (UAPA) के तहत गिरफ्तार किया हैं। उमर खालिद को शनिवार को तलब किया गया था और उन्हें रविवार को लोदी कॉलोनी में विशेष सेल कार्यालय में जांच में शामिल होने के लिए कहा गया था। रविवार को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने उमर से करीब 11 घंटे लंबी पूछताछ की। जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। उमर खालिद को आज अदालत में पेश किया जायेगा।

मेरे बेटे को दिल्ली दंगे में फंसाया गया: उमर के पिता

उमर खालिद के पिता सैयद कासिम रसूल इलियास ने कहा, “स्पेशल सेल ने मेरे बेटे उमर खालिद को रात 11 बजे गिरफ्तार किया। पुलिस उससे दोपहर 1 बजे से पूछताछ कर रही थी। उसे दिल्ली दंगा मामले में फंसाया गया हैं।” बता दें कि खालिद की गिरफ्तारी के कुछ देर बाद ट्विटर पर #standWithUmarKhalid ट्रेंड करने लगा।

उत्तर-पूर्वी दिल्ली हिंसा के संबंध में पूछताछ के लिए दिल्ली पुलिस के विशेष सेल ने आज डॉक्यूमेंटरी फिल्म निर्माता राहुल रॉय और सबा दीवान को भी बुलाया है। इससे पहले एडिशनल चार्जशीट में भी राहुल रॉय का नाम शामिल किया गया था।

उमर खालिद की गिरफ्तारी पर उमर की साथी शहला रशीद ने कहा की जैसे मोदी की ‘डिग्री-शादी फेक’, वैसे ही है ये केस।

उमर खालिद की गिरफ्तारी की निंदा

प्रोफेसर अपूर्वानंद और सामाजिक कार्यकर्ता हर्ष मंदर जैसी 12 हस्तियों ने एक साथ बयान जारी कर उमर खालिद की गिरफ्तारी की निंदा की हैं, साथ ही उमर को उन साहसी युवा आवाजों में से एक बताया जो “देश के संवैधानिक मूल्यों के लिए बोलती हैं।”

योगेंद्र यादव ने दी प्रतिक्रिया

स्वराज अभियान के नेता योगेंद्र यादव उमर खालिद की गिरफ्तारी से हैरान हैं। योगेंद्र यादव ने कहा की मुझे हैरानी हो रही है कि उमर खालिद जैसे युवा, अच्छी सोच और आदर्शवादी सामाजिक कार्यकर्ता के खिलाफ यूएपीए का उपयोग किया गया है। खालिद ने हमेशा हिंसा और सांप्रदायिकता का विरोध किया है। यादव ने कहा कि दिल्ली पुलिस भारत के भविष्य को लंबे समय तक रोक नहीं सकती।

बता दें कि फरवरी में नागरिकता संशोधन क़ानून (सीएए) के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शन के दौरान उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सांप्रदायिक हिंसा हुई थी। जिसमें कम से कम 53 लोगों की मौत हुई थी और सैकड़ों लोग घायल हुए थे।

Related posts

चीन की नई करतूत अब भूटान की जमीन पर किया कब्जा, चीन को कहां से मिल रही ताकत..

Mamta Gautam

चीनी मीडिया में आमिर ने इनको भी छोड़ा पीछे

Srishti vishwakarma

ताजमहल के दीदार को उमड़े सैलानी

Rani Naqvi