jungle fire aag उत्तराखंड: 40 जगह धधक रही आग, 12 हजार वन कर्मी आग बुझाने में लगे...

पिछले कुछ सालों में उत्तराखंड के जंगलों में आग लगने की कई घटनाएं सामने आ रही हैं। पिछले साल भी उत्तराखंड के जंगलों में आग की कई घटनाएं आई थी। वहीं फिलहाल नैनीताल, टिहरी गढ़वाल, अल्मोड़ा और पौड़ी गढ़वाल जिले वनाग्नि से प्रभावित हैं। जंगलों में लगी आग को रोकने के लिए 12 हजार से ज्यादा वन कर्मी लगे हुए हैं। जबकि 1,300 फायर क्रू स्टेशन भी बनाए गए हैं। बताया जा रहा है कि अब तक जंगलों में आग लगने की 983 घटनाएं हुई हैं, जिससे 1,292 हेक्टेयर वन क्षेत्र प्रभावित हुआ है। वहीं वर्तमान में 40 जगहों पर आग लगी हुई है।

वन विभाग के सभी अधिकारियों की छुट्टियों पर रोक

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के निर्देश पर वन विभाग के सभी अधिकारियों की छुट्टियों पर रोक लगा दी गई है। सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को अपने कार्यक्षेत्र में बने रहने को कहा गया है। वहीं प्रदेश में तैनात किए गए फायर वॉचर्स को 24 घंटे निगरानी करने के निर्देश दिए गए हैं।

सीएम तीरथ ने ट्वीट कर दी थी जानकारी

जंगल में आग की बढ़ती घटनाओं के बीच सीएम तीरथ सिंह रावत ने कल ट्वीट कर बताया था कि उत्तराखंड की वन सम्पदा सिर्फ राज्य ही नहीं पूरे देश की धरोहर है। हम इसे सुरक्षित और संरक्षित रखने के लिए कृत संकल्प हैं। उत्तराखंड में इस बार जाड़ों में बारिश सामान्य से भी कम हुई है और इस कारण भी वनों में आग लगने की घटनाएं तेजी से बढ़ रही हैं।

सीएम ने शाह से भी किया था अनुरोध

प्रदेश में वनाग्नि की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए सीएम ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से बात कर उनसे आग बुझाने हेतु हेलिकॉप्टर और एनडीआरएफ़ के सहयोग हेतु अनुरोध किया था। जिसके बाद से राज्य में वनकर्मियों की संख्या बढ़ी है।

नागा साधुओं के पुरोहितों से मिलिए, जानिए कैसा होता है जीवन

Previous article

उत्तराखंड: गलती से गोली चलने से गई युवक की गई जान, बाकी 3 दोस्तों ने डरकर की खुदकुशी

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured