September 21, 2021 2:44 pm
featured यूपी

उज्ज्वला 2.0: एक करोड़ महिलाओं को फ्री गैस कनेक्शन, पढ़ें पूरी खबर

उज्ज्वला 2.0: एक करोड़ महिलाओं को फ्री गैस कनेक्शन, पढ़ें पूरी खबर

उज्ज्वला 2.0:  आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर  उज्ज्वला 2.0 योजना की शुरुआत की। उत्तर प्रदेश के महोबा जिले में 1 हजार महिलाओं को नए LPG कनेक्शन दिए गए। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री केशव मौर्य व दिनेश शर्मा मौजूद रहे। इस बार इस योजना में सरकार फ्री LPG कनेक्शन के साथ-साथ भरा हुआ सिलेंडर भी फ्री में देगी।

हजार महिलाओं को मिला कनेक्शन

2021-22 वित्तीय वर्ष में इस योजना के तहत 1 करोड़ LPG कनेक्शन बांटने के लिए अलग से फंड जारी किया गया है। यह कनेक्शन कम आय वाले उन परिवारों को दिए जाएंगे, यह लाभार्थी पहले चरण में शामिल नहीं थे।

एड्रेस प्रूफ की जरूरत नहीं

PM नरेंद्र मोदी ने बताया कि अब उज्ज्वला 2.0 का लाभ लेने के लिए प्रवासियों को राशन कार्ड और एड्रेस प्रूफ जमा करने की जरूरत नहीं होगी। जरूरतमंद परिवार अब खुद के द्वारा सत्यापित आवेदन देकर भी इस योजना का लाभ ले सकेंगे।

पुरानी लाभार्थियों से की बात PM नरेंद्र मोदी ने उज्ज्वला योजना की पुरानी लाभार्थी महिलाओं से बातचीत की। पीएम ने पूछा सिलेंडर की रिफिलिंग हुई है या नहीं।

  • उज्जवला योजना में आवेदन के लिए पात्रता
  • आवेदक एक महिला होनी चाहिए
  • महिला की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • महिला BPL परिवार से होनी चाहिए।
  • बीपीएल कार्ड तथा राशन कार्ड होना चाहिए
  • किसी सदस्य के नाम पर LPG कनेक्शन नहीं होना चाहिए
कैसे कर सकते हैं अप्लाई
  • योजना का लाभ लेने के लिए आपको pmuy.gov.in/ujjwala2.html अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहां आपके सामने एक डाउनलोड फॉर्म का ऑप्शन दिखाई देगा।
  • यहां इस फॉर्म को डाउनलोड़ करने के बाद फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी को भर दें।
  • इस फॉर्म को अब आपको एलपीजी केंद्र पर जमा कराना होगा।
  • साथ ही इससे संबंधित दस्तावेजों को भी वहां जमा करा दें।
  • इसके बाद डॉक्यूमेंट्स के वेरिफाई होने के बाद आपको LPG कनेक्शन मिल जाएगा।

Related posts

बीजेपी कर रही हैं दलितो पर अत्याचार-सांसद हैं बिकाऊ

mohini kushwaha

सकारात्मक परिणाम आने तक भारत उठाता रहेगा बलूचिस्तान का मुद्दा

Rahul srivastava

आज भी देखे जा सकते हैं इमारत में लखनऊ रेजिडेंसी कांड के निशान

mahesh yadav