featured देश

एनआरसी, एनआरपी और सीएए को लेकर उद्धव ठाकरे ने दिया ये बयान, जाने क्या कहा

उद्धव ठाकरे एनआरसी, एनआरपी और सीएए को लेकर उद्धव ठाकरे ने दिया ये बयान, जाने क्या कहा

मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने संकेत दिए हैं कि वह संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन एनआरसी और एनआरपी का विरोध करेंगे। लेकिन उद्धव ठाकरे की शिवसेना की महाराष्ट्र में सहयोगी पार्टी कांग्रेस और एनसीपी एनपीआर और एनआरसी सहित नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ भी हैं।उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘नागरिकता संशोधन कानून के तहत किसी को भी देश से बाहर नहीं निकाला जा सकता। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हालांकि वह महाराष्ट्र में एनआरसी लागू नहीं होने देंगे, क्योंकि इससे हिंदुओं को भी अपनी नागरिकता साबित करने में दिक्कत होगी।

मुख्यमंत्री ठाकरे ने कहा, ‘एनआरसी के तहत ना केवल मुस्लिम बल्कि हिंदुओं को भी अपनी नागरिकता साबित करने में दिक्कत होगी। इसलिए मैं एनआरसी को यहां नहीं आने दूंगा। नागरिकता कानून को लेकर देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। देश की राजधानी दिल्ली में भी कई जगहों पर लोग कई दिनों से प्रदर्शन पर  बैठे हैं। वहीं, जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के बाहर रविवार रात दो बदमाशों के कथित गोलीबारी करने की घटना में पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। घटना में कोई हताहत नहीं हुआ। संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए बनाए गए विश्वविद्यालय के छात्रों और पूर्व छात्रों के समूह ‘जामिया समन्वय समिति’ (जेसीसी) के एक बयान के अनुसार हमलावर लाल रंग की मोटरसाइकिल पर आए थे। बयान में कहा गया है कि एक बदमाश ने लाल रंग की जैकेट पहन रखी थी। 

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि भारतीय दंड संहिता और सशस्त्र अधिनियम की प्रासंगिक धाराओं के तहत हत्या की कोशिश का एक मामला दर्ज किया गया है और जांच जारी है। जामिया नगर में इस एक ही सप्ताह में गोलीबारी की यह तीसरी घटना है। गौरतलब है कि शाहीन बाग इलाके में सीएए के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन के दौरान शनिवार को 25 वर्षीय एक युवक ने हवा में गोली चलाई थी। उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। इससे पहले गत गुरुवार को एक व्यक्ति ने सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों पर गोली चलाई थी जिसमें जामिया मिल्लिया इस्लामिया का एक छात्र घायल हो गया था।

Related posts

देश के हर एक नागरिक और शहीदों को सम्मान देना चाहिए : रविशंकर प्रसाद

Rani Naqvi

वर्क आउट करते समय इन बातों का रखें ध्यान

mohini kushwaha

10 फुट गहरी बर्फ में 20 किलोमीटर तक कंधे पर बेटे ने ढोया मां का शव

shipra saxena