featured दुनिया देश

दक्षिण भारत में पर्यटन को बढ़ावा के लिए आज से बैंगलोर में दो दिन का सम्मेलन

delhi दक्षिण भारत में पर्यटन को बढ़ावा के लिए आज से बैंगलोर में दो दिन का सम्मेलन

कोविड-19 के बाद पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कर्नाटका के बैंगलोर में दो दिन 28 और 29 अक्टूबर को संस्कृति मंत्रालय की तरफ से दक्षिणी भारत में पर्यटन को बढ़ावा देने और कौशल विकास के ज़रिए पर्यटन को कोविड-19 के बाद लोगों के लिए सुरक्षित बनाने के उद्देश्य से ये दो दिवसीय सम्मेलन आयोजित किया जा रहा हैं , इस सम्मेलन में पर्यटन और संस्कृति मंत्री जी किशन रेडी , कर्नाटक के मुख्यमंत्री , मंत्रालय के राज्य मंत्री , राज्य मंत्री अजय भाट ,डीडीजी पर्यटन और दक्षिण भारत के पाँच स्टेट्स तेलंगाना , केरला , तमिलनाडु , कर्नाटक और लकशवद्वीप इन राज्यों के पर्यटन मंत्री और तमाम अधिकारी मौजूद हैं ।

delhi 2 दक्षिण भारत में पर्यटन को बढ़ावा के लिए आज से बैंगलोर में दो दिन का सम्मेलन

कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में दक्षिण भारत में पर्यटन पर महत्वपूर्ण बैठक होने जा रही है। जिसकी अध्यक्षता केंद्रीय पर्यटन मंत्री और कर्नाटक के मुख्यमंत्री द्वारा की जाएगी। जिसमें पर्यटन राज्यमंत्री, रेल ,सड़क ,पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन समेत कई विभागों के अधिकारी मौजूद रहेंगे। इस सम्मेलन में ट्रैवल ट्रेड से जुड़े तमाम स्टेकहोल्डर्ज़ सीधा समन्वय साधेंगे राज्य और केंद्र के पर्यटन मंत्रियो और अधिकारियों से जिसमें दक्षिण भारत में ट्रैवल को लोगों के लिए और कैसे सुगम बनाया जाए इसपर चर्चा होगी।

दरअसल केंद्र सरकार की कोशिश है कि दक्षिण भारतीय राज्यों में महामारी के बाद टूरिज्म को बूस्ट देने के लिए रेलवे ,क्रुज ,हवाई और सड़क मार्ग का सहारा लिया जाए। यह पूरा कार्यक्रम ‘ देखो अपना देश’ इनीशिएटिव के तहत हो रहा है।

delhi 3 दक्षिण भारत में पर्यटन को बढ़ावा के लिए आज से बैंगलोर में दो दिन का सम्मेलन

इसके जरिए इको टूरिज्म, धार्मिक यात्रा, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर के पर्यटन क्षेत्रों को बढ़ावा देना और टूरिज्म के जरिए रोजगार के अवसर पैदा करने पर बल दिया जाएगा। इसमें कोविड-19 एप्रोप्रियेट बिहेवियर वैक्सीनेशन को भी तर्जी दी जाएगी। दरअसल लॉकडाउन के दौरान सबसे ज्यादा नुकसान टूरिज्म, ट्रैवल और होटल इंडस्ट्री को हुआ था। इसे उभारने के लिए केंद्र सरकार राज्य सरकारों के साथ मिलकर बड़ी योजना पर काम कर रही है।

ग़ौरतलब हैं कि दक्षिणी भारत में टुरिज़म की अपार सम्भावनाएँ हैं और पर्यटन की दृष्टि से दक्षिण भारत में कई धार्मिक टुरिस्ट साइट्स से लेकर पौराणिक टुरिज़म , इको टुरिज़म जैसी चीजें हमेशा से आकर्षण का केंद्र बनी हुई हैं । और इसको कोविड के बाद कैसे और बूस्ट किया जाए और इस जुड़ी परेशानियो को दूर किया जाए इस सम्मेलन में इस पर ज़ोर दिया जाएगा ।

Related posts

अब बासवाड़ा के अस्पताल में 51 दिनों में 81 बच्चों की मौत, सरकार ने दिए जांच के आदेश

Rani Naqvi

कोविड-19 को नियंत्रित करने में लगी योगी सरकार, दिए कड़े निर्देश

Aditya Mishra

कोरोना वायरस महामारी को लेकर अमेरिका और WHO में तेज हुई तकरार, अमेरिका ने दी धमकियां

Rani Naqvi