एलडीए लगायेगा मकान और प्लॉट से जुड़े फर्जीवाड़े पर रोक, समिति का हुआ गठन

लखनऊ: शहर के महानगर इलाके में एक बड़ा मामला सामने आया, जहां दो भाइयों ने मिलकर करोड़ों रुपए की जमीन पर कब्जा जमाया हुआ था। यहां कबाड़ी वालों को बसाया गया था।

यह भी पढ़ें: विश्व महिला दिवस 2021: बेटियों के सपनों को पंख लगाएंगी तितलियां

जांच में सामने आई बड़ी गड़बड़ी

इस मामले की जांच जब एलडीए ने की तब पता चला कि यह बहुत बड़ी गड़बड़ी है। दरअसल हनुमान सेतु के पास करोड़ों की जमीन है, जहां कबाड़ी का काम करने वाले लोगों को बताया गया है। इस जमीन के मालिक कैसरबाग के रहने वाले दो भाई हैं।

10 साल से जमीन पर कब्जा

इस जमीन पर डिवाइन अपार्टमेंट में रहने वाले दो भाइयों ने कब्जा जमा रखा है। मोहम्मद फरहान भाटी और सेठ बशीर अहमद भाटी के नाम यह जमीन है। अधिकारियों ने बताया कि यह दोनों भूमाफिया है।

इन्होंने जमीन को कब्जा करके वहां कबाड़ की दुकान लगवाई। इसके बाद इनसे मोटा किराया वसूला जा रहा था। इस जमीन के दस्तावेज भी फर्जी तरीके से बनवाए गए थे। इस गड़बड़ी के कारण एलडीए को करोड़ों रुपए का नुकसान हो चुका है।

नजूल भूमि के रूप में है दर्ज जमीन

कब्जा की गई जमीन नजूल भूमि के रूप में दर्ज है। यह हनुमान सेतु मंदिर महानगर के पास बीरबल साहनी मार्ग पर स्थित है। इस का पट्टा सहकारी आवास समिति के पास था, जो 2011 में समाप्त हो गया था।

एलडीए को इस जमीन में गड़बड़ी होने की आशंका थी। इसके बाद पूरी जांच करने में मामला सामने आया। दोनों भाइयों ने यह जमीन को कब्जा करके कबाड़ी लोगों को बसा दिया था।

इन सभी लोगों से भारी किराया भी वसूला जा रहा था। दोनों भाइयों के खिलाफ इस मामले में एफ आई आर दर्ज कर ली गई है। जल्द ही इनकी गिरफ्तारी होगी और जमीन को खाली करवाया जाएगा।

हरिद्वार कुंभ 2021: अखाड़ों की धर्म ध्वजा की स्थापना के साथ निकलेगी पेशवाई, कुभं की होगी औपचारिक शुरुआत

Previous article

सनी लियोनी ब्लैक ड्रैस में अपनी सेक्सी अदाओं से फैंस को कर रहीं दीवाना, देखें ताजा वीडियो

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.