ट्रंप ने भारतीय मूल के ‘प्रीत भरार’ सहित 46 अटॉर्नी से मांगा इस्तीफा

वॉशिंगटन। हाल ही में ट्रंप सरकार ने भारतीय-अमेरिकी समुदाय के हाई-प्रोफाइल अटॉर्नी के साथ-साथ उन सभी 46 अधिवक्ताओं से इस्तीफे की मांग की है जिनकी नियुक्ति बाराक ओबामा के शासन के समय में की गई थी। यह इस्तीफा अटॉर्नी जनरल जेफ सेशन्स ने मांगा है। अमेरिकी न्याय मंत्रालय की प्रवक्ता सारा इस्गर फ्लोर्स ने 11 मार्च को कहा कि अमेरिका में कुल मिला कर 93 अधिवक्ता है, जिनमें से कुछ पहले ही अपना पद छोड़ चुके है। लेकिन जो अधिवक्ता ट्रंप प्रशासने के शुरुआती समय में पद पर बने रहे 46 अधिवक्ता है उनसे एक समरुप सत्तांतरण सुनिश्चित करने के लिए एक साथ इस्तीफा देने को कहा गया है।

फ्लोर्स ने एक बयान में कहा है की ऐसे पहली बार नहीं किया जा रहा। इससे पहले जॉर्ज डब्ल्यू बुश और बिल क्लिंटन प्रशासन के समय में भी किया जा चुका है। आपको बता दें की जिन लोगों से इस्तीफा देने के लिए कहा गया है उनमें सदर्न डिस्टिरक्ट ऑफ नयूयॉर्क के अटॉर्नी जनरल और भारतीय मूल के अमेरिकी प्रीत भरारा शामिल है। उनकी नियुक्ती पूर्व राष्ट्रपति ओबामा ने वर्ष 2009 में की थी।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ट्रंप के नवंबर में प्रशान शुरु होने के बाद भरारा ने ट्रंप से मुलाकात की थी और उन्होने बताया था की भरारा को उनके पद पर काम करने को कहा गया है।