आखिर बिप्लब देब अपने बयानों से क्या साबित करना ताहते हैं?

पिछले कुछ समय से अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाले त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब ने एक नया बयान दिया है। उन्होंने पत्रकार द्वारा पूछे गए लिंचिंग (भीड़ द्वारा हत्या) के सवाल पर कहा कि त्रिपुरा में खुशी की लहर है। राज्य में हिंसक घटनाओं को लेकर एक सवाल पर देब ने कहा, ‘त्रिपुरा में खुशी की लहर है और आपको भी इस लहर का आनंद लेना चाहिए। मेरे चेहरे को देखिए…मैं काफी खुश हूं। हालांकि, बाद में त्रिपुरा सरकार ने दावा किया कि मुख्यमंत्री के बयान को गलत तरीके से पेश किया है।

गुरुवार को जारी किए गए एक बयान में बताया गया कि मुख्यमंत्री देब का जवाब अगरतला के एयरपोर्ट के नाम में बदलाव को लेकर था। बयान में कहा गया, ‘दुर्भाग्य से मुख्यमंत्री के उपरोक्त कमेंट्स को संदर्भ से बाहर करने के प्रयास किए गए हैं और उन्हें लिंचिंग घटनाओं से जोड़ दिया गया है। बता दें कि त्रिपुरा में पिछले आठ दिनों में बच्चा चोरी की अफवाह की वजह से तीन लोगों की हत्या हो गई थी। वहीं, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब के बयान इससे पहले भी सुर्खियों में रह चुके हैं। कुछ समय पहले महाभारत के समय में इंटरनेट और सैटेलाइट होने का देब का बयान भी चर्चा का विषय बना था।