ऋषिकेश को भारत के साहसिक खेलों की राजधानी के रूप में चिन्हित किया गया

ऋषिकेश को भारत के साहसिक खेलों की राजधानी के रूप में चिन्हित किया गया

पर्यटन मंत्रालय भारत सरकार द्वारा किए गए एक अध्ययन के अनुसार ऋषिकेश को भारत की साहसिक खेलों की राजधानी के रूप में चिन्हित किया गया है। लोकप्रिय और तीव्र राफ्टिंग रैपिड्स के साथ-साथ भारत के सर्वोच्च बंजी जंपिंग प्लेटफार्म की मेजबानी करने वाला ऋषिकेश इस वर्ष एडवेंचर प्रेमियों की पहली पसंद रहा। एडवेंचर प्रेमियों की पसंद के मामले में गोवा दूसरे, जबकि केरल तीसरे स्थान पर रहा है।

 

भारत के साहसिक खेलों की राजधानी के रूप में चिन्हित किया ऋषिकेश..

इसे भी पढ़ें-आईकॉन पर्यटन स्थलों के रूप में विकसित किए जाएंगें देश के 17 पर्यटन स्थल

सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर ने कहा कि वर्ष 2018 को पर्यटन मंत्रालय भारत सरकार द्वारा एडवेंचर ईयर के रूप में मनाया गया है। एडवेंचर ईयर में इस प्रकार की महत्वपूर्ण उपलब्धि प्राप्त करना राज्य के पर्यटन के लिए एक सम्मान का विषय है। उन्होंने कहा कि ऋषिकेश अब ना केवल योग राजधानी बल्कि एडवेंचर कैपिटल की उपाधि से भी सम्मानित हो गया है। उन्होंने कहा कि आगामी फरवरी माह में प्रस्तावित पाटा- 2019 के परिप्रेक्ष्य में यह एक सकारात्मक संदेश है।

इसे भी पढ़ें-कैप्टन VS सिद्धू: बदल सकता है नवजोत सिंह सिद्धू का मंत्रालय!

अध्ययन में यह भी सामने आया है कि सर्वाधिक 25 फीसदी लोगों ने ट्रैकिंग को चुना। 14 फीसदी भारतीयों की पसंद बनकर रिवर राफ्टिंग अत्यधिक लोकप्रिय एडवेंचर स्पोर्ट साबित हुआ है। कारण यह बताया गया है कि भारत में काफी सारे राफ्टिंग रेपिड्स उपलब्ध है और लोग एक ग्रुप के रूप में राफ्टिंग का आनंद लेना पसंद करते हैं जहां एक और यह दिलों में रोमांच पैदा करने वाला होता है वहीं दूसरी ओर इससे टीम स्पिरिट को बढ़ावा मिलता है। दशकों से अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों की पसंद रहा। रिवर राफ्टिंग अब भारतीयों के बीच भी सर्वाधिक लोकप्रिय साहसिक खेल बन रहा है।

ऋषिकेश में होने वाली बंजी जंपिंग अध्ययन का एक महत्वपूर्ण विषय रही। पिछले 8 वर्षों में इसकी शुरुआत से लेकर अब तक यहां से 70000 जंप किए जा चुके हैं जोक एक छोटी सी अवधि में स्थापित किया गया अंतर्राष्ट्रीय मानक है। कैंपिंग एक अन्य महत्वपूर्ण शैक्षिक गतिविधि के रूप में हो रहा है।  लगभग 10 फीसदी लोगों ने इस विकल्प को एडवेंचर के माध्यम के रूप में चुना है।

इसे भी पढ़ें-पीएम मोदी की चाय की दुकान बनेगी, पर्यटन का केन्द्र