featured उत्तराखंड

आज सदन में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत बतौर वित्त मंत्री अपना पहला बजट पेश करेंगे

देहरादून 1 आज सदन में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत बतौर वित्त मंत्री अपना पहला बजट पेश करेंगे

देहरादून। उत्तराखंड बजट सत्र के दौरान भराड़ीसैंण में आज सदन में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत बतौर वित्त मंत्री अपना पहला बजट पेश करेंगे। आज शाम चार बजे पेश होने वाले बजट में सरकार ने 53 हजार करोड़ की व्यवस्था की है। इससे पहले सदन के पटल पर आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट पेश की गई। जिसके तहत सकल घरेलू उत्पाद में 6.87 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। राज्य में प्रतिव्यक्ति आय एक लाख 98 हजार 738 है। वहीं कृषि और खनन में ग्रोथ रेट नेगेटिव है। पशुपालन में गोवंशीय और महिवंशीय नेगेटिव ग्रोथ 9.38 है। दुग्ध उत्पादन बढ़ा है। फॉरेस्ट कवर 8.04 प्रतिशत बढ़ा है।

इस समय प्रदेश सरकार कई चुनौतियों का सामना कर रही है। सरकार की कोशिश इस बजट के जरिए इन चुनौतियों से पार पाने का रास्ता निकालने की भी है। माना जा रहा है कि त्रिवेंद्र सरकार इस बजट में राजस्व बढ़ाने के लिए रोडमैप सामने रख सकती है। जैविक खेती और किसानों की आय दोगुनी करने के वायदे को सरकार इस बजट के जरिये आगे बढ़ा सकती है।

इसी वित्तीय वर्ष में सरकार को महाकुंभ का आयोजन भी कराना है। सरकार की ओर से केंद्र से पांच हजार करोड़ की सहायता मांगी जा चुकी है। बजट में कुंभ को लेकर सरकार वित्तीय व्यवस्था और अन्य योजनाओं को सामने रख सकती है। पलायन के मुद्दे पर सरकार साल भर बात करती रही है। माना जा रहा है कि बजट में रिवर्स पलायन को लेकर नई घोषणा कर सकती है। 

हर वर्ग के विकास को बजट में शामिल किया

पर्यटन में सरकार को केंद्र से खासी मदद मिलती रही है। इस सेक्टर को आगे बढ़ाने के लिए एडवेंचर टूरिज्म विभाग खोलने की तैयारी में है। इससे जुड़ी नई योजनाएं त्रिवेंद्र सिंह रावत के बजट में होंगी। दूसरी तरफ सरकार के इस बजट का विरोध विपक्ष करेगा। ऐसे में सदन में बजट पेश करने के दौरान ट्रेजरी बैंच को विपक्ष के अक्रामक रुख का सामना करना पड़ सकता है। 

भराड़ीसैंण में हो रहा बजट सत्र ऐतिहासिक होगा। सरकार का आम बजट विकास के रूप में नजर आएगा। युवाओं, महिलाओं, किसानों और कर्मचारियों के साथ हर वर्ग के विकास को बजट में शामिल किया है। इसके माध्यम से सरकार की पिछले तीन वर्षों में लाई योजनाओं को और गति दी जाएगी। साथ ही आने वाले दो सालों में नई योजनाओं को धरातल पर उतारने के लिए बजट में खास व्यवस्था होगी।

-मदन कौशिक, संसदीय कार्य मंत्री

प्रदेश सरकार का अभी तक कोई भी बजट प्रभावी नहीं रहा है। सरकार की वित्तीय स्थिति भी ठीक नहीं है। सरकार उधार लेकर अपना पुराना कर्ज चुकता कर रही है। ऐसे में हमें उम्मीद नहीं है कि बजट में कुछ खास होगा।

Related posts

सिंहासन देने की बात पर भी शिवसेना भाजपा का साथ नहीं देगी: संजय राउत

Trinath Mishra

दिल्ली में हो रही हिंसा को लेकर अमित शाह ने की बैठक, केजरीवाल ने बताया क्या लिया गया फैसला

Rani Naqvi

100 मिलियन कोविड-19 वैक्सीन रूस भारतीय दवा कंपनी को देगा

Samar Khan