Breaking News देश धर्म

इस बार रोहिणी नक्षत्र का संयोग नहीं बन रहा, असमंजस में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का उत्सव

srikrishna janmastami इस बार रोहिणी नक्षत्र का संयोग नहीं बन रहा, असमंजस में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का उत्सव
  • संवाददाता, भारत खबर

नई दिल्ली। हर बार जन्माष्टमी दो दिन मनाई जाती है, इस वर्ष भी ऐसा ही होगा। मगर सबसे उपयुक्त समय कब होगा इसे भी जानना जरूरी होता है। जन्माष्टमी को लेकर असमंजस में रहने वाले लोगों को बता दें कि इस बार श्रीकृष्ण को मनाने का कोई वक्त जाया नहीं करना और मन से मांगी मुरादों को उपरवाला कभी मना नहीं करता ऐसा लोग कहते हैं।

पंडितों के मुताबिक इस बार जन्माष्टमी 23 और 24 अगस्त को पड़ रही है। श्रीकृष्ण को भगवान विष्णु का आठवां अवतार माना गया है। श्रीकृष्ण का जन्म भादो माह की कृष्ण पक्ष की अष्‍टमी को रोहिणी नक्षत्र में हुआ था। गणना में इस हिसाब से अष्‍टमी 23 अगस्‍त को पड़ रही है।

लेकिन रोहिणी नक्षत्र 24 अगस्त को बताई जा रही है, तो सवाल यह है कि क्या बिना रोहिणी नक्षत्र के ही श्रीकृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाएगी। इस पर पंडितों का कहना है कि गृहस्थियों के लिए जन्माष्टमी का व्रत निर्विवाद रूप से 23 अगस्त को है।

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी 2019 की तिथि व मुहूर्त

जन्माष्टमी: 23 अगस्त को सुबह 08 बजकर 09 मिनट से 24 अगस्त को सुबह 08 बजकर 32 मिनट तक।

रोहिणी नक्षत्र 24 अगस्त की सुबह 03 बजकर 48 मिनट से 25 अगस्त को सुबह 04 बजकर 17 मिनट तक।

Related posts

प्रियंका गांधी ने खाली किया सरकारी बंग्ला, जाने अब कहां रहेंगी कांग्रेस महासचिव

Rani Naqvi

काकोरी में आज शहीदों को किया जाएगा नमन, राज्यपाल और मुख्यमंत्री रहेंगे मौजूद

Aditya Mishra

प्रियंका गांधी बोलीं: आरोप लगाने के बजाय मोदी को देना चाहिए पांच साल का हिसाब

bharatkhabar