लंगर शाहीन बाग में सीएए के खिलाफ प्रोटेस्ट में लोगों की सेवा करने के लिए इस शख्स ने बेचा अपना फ्लैट

नई दिल्ली। दिल्ली के शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ करीब दो महीने से धरना प्रदर्शन चल रहा है। इस प्रदर्शन में लोग विभिन्न तरीके से हिस्सेदारी कर रहे हैं। इनमें से ही एक डीएस बिंद्रा प्रदर्शनकारियों के लिए लंगर लगा रहे हैं। उन्होंने प्रदर्शनकारियों के भोजन का इंतजाम करने के लिए अपना फ्लैट तक बेच दिया। शाहीन बाग में लंगर लगाने वाले डीएस बिंद्रा दिल्ली हाई कोर्ट में वकील हैं। प्रोटेस्ट में लोगों की सेवा करने के लिए उन्होंने अपना फ्लैट तक बेच दिया। उनका कहना है कि गुरुद्वारा में लंगर लगाते हैं, इससे अच्छा है कि देश के उन लोगों की सेवा की जाए जो संविधान की रक्षा के लिए लड़ रहे हैं।

डीएस बिंद्रा बताते हैं कि उन्होंने खुरेजी और मुस्तफाबाद में लंगर की शुरुआत की थी, लेकिन बाद में वहां के साथियों के हवाले कर दिया और अब वह शाहीन बाग में लंगर खिला रहे हैं। उन्होंने बताया कि वह शाहीन बाग में पूरी जिम्मेदारी के साथ काम कर रहे हैं। उन्होंने बताया, ‘हम किसी से भी कैश नहीं ले रहे हैं। फिर भी पंजाबी के साथ अन्य सभी समुदायों के लोगों का साथ मिल रहा है। कोई सब्जी लेकर आ रहा है, कोई रिफाइंड तेल लेकर आ रहा है। इस तरह जनता से हर तरह की मदद मिल रही है।

डीएस बिंद्रा ने कहा कि जब हम परिवार के छह लोग गुरुद्वारा जाते हैं तो माथा टेकते हैं और 50-50 रुपये दान करते हैं। इससे बेहतर है कि हम मानवता के लिए काम करें। आर्थिक स्थिति के बारे में वह कहते हैं कि वाहे गुरु ने जो दिया है कि उसे रखने का क्या फायदा है। जो ईश्वर ने दिया है उसे लोगों की सेवा में लगाने में ही भला है। फ्लैट इसीलिए बेच दिया कि लंगर का खर्च उठाने के लिए पैसों की जरूरत थी. कैश नहीं था. इसलिए प्रॉपर्टी बेचने का फैसला किया.

डीएस बिंद्रा ने बताया कि फ्लैट बेचने से पहले उन्होंने बच्चों की राय ली थी। उन्होंने बताया कि बच्चों की सहमति से फ्लैट बेचने का फैसला किया। एक बेटी है जो एमिटी यूनिवर्सिटी से MBA कर रही है। बेटे की मोबाइल की दुकान है। मेरे बच्चों का कहना है कि गुरुद्वारे में दान करने से अच्छा है कि शाहीन बाग में प्रदर्शन करने वाले लोगों के लिए खाने का इंतजाम किया जाए। अभी रहने के लिए हमारे पास एक फ्लैट है। इसीलिए लंगर के लिए पैसा जुटाने की खातिर दूसरा फ्लैट बेच दिया। डीएस बिंद्रा के अलावा पंजाब से आए लोगों ने भी अलग से लंगर लगाया हुआ है।

Rani Naqvi
Rani Naqvi is a Journalist and Working with www.bharatkhabar.com, She is dedicated to Digital Media and working for real journalism.

    Exit Poll: आप को 59 से 68 सीटों और बीजेपी को 2 से 11 सीटों पर जीत मिलने की उम्मीद, रंग ला रही बीजेपी की मेहनत

    Previous article

    EVM को अनधिकृत रूप से ले जाने की कोशिश, आप राज्यसभा सांसद संजय सिंह का दावा

    Next article

    You may also like

    Comments

    Comments are closed.

    More in featured