rohit sharma इस दिग्गज ने की भविष्यवाणी, WTC फाइनल में रोहित-बोल्ट का मुकाबला होगा जबरदस्त

18-22 जून के बीच वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेला जाना है। हर कोई इस लम्हे का इंतजार कर रहा है। दोनों टीमें तैयारी में जुटी हैं। और कई दिग्गज ये कह रहे हैं कि ये मुकाबला अबतक का सबसे कांटेदार और रोमांचकारी होने वाला है।

‘रोहित का बोल्ट को खेलना दिलचस्प मुकाबला’

वहीं पूर्व भारतीय विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग का कहना है कि इस फाइनल मुकाबले में रोहित शर्मा का ट्रेंट बोल्ट कि गेंदबाजी को खेलना दिलचस्प मुकाबला होगा। सहवाग को रोहित की मौजूदा फॉर्म को देखते हुए लगता है कि वह निश्चित रूप से फाइनल मुकाबले में सफलता हासिल करेंगे।

ट्रेंट बोल्ट और टिम सऊदी की जोड़ी चुनोतिपूर्ण

उन्होंने कहा कि इसमें कोई शक नहीं है कि ट्रेंट बोल्ट और टिम सऊदी की जोड़ी भारतीयों के लिए काफी चुनोतियां पैदा करेंगी। वे दोनों तरीके से गेंद को मूव कर सकते हैं। और साझेदारी में गेंदबाजी करते हुए भी काफी शानदार प्रदर्शन करते हैं। सहवाग ने कहा कि मैं बोल्ट बनाम रोहित शर्मा के बीच मुकाबला देखना चाहूंगा। अगर रोहित क्रीज पर जम जाते हैं और बोल्ट के शुरुआती स्पैल को खेलते हैं तो यह देखना एक अद्भुत होगा।

इंग्लैंड की परिस्थितियों में पारी का आगाज

बता दें रोहित के लिए इंग्लैंड की परिस्थितियों में पारी का आगाज़ करने का पहला मौका होगा। हालांकि उन्हें 2014 में टेस्ट खेलने के अनुभव से निश्चित रूप से मदद मिलेगी। सहवाग ने कहा रोहित पहले भी इंग्लैंड में टेस्ट खेल चुका है, इसलिए मुझे लगता है कि वो काफी अच्छी तरह से गेंदबाजी का सामना करेंगे। निश्चित रूप से उन्हें 10 ओवरों में काफी सतर्क रहना होगा, और परिस्थितियों को समझने के लिए नई गेंद को खेलना होगा।

WTC के फाइनल में अच्छी स्थिति

वहीं दूसरी ओर इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दूसरे मैच में न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट के खेलने की उम्मीद कम थी। लेकिन बाएं हाथ के इस गेंदबाज का मानना है कि नेट पर अभ्यास करने की जगह मैदान पर उतरने से वो विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में अच्छी स्थिति में रहेंगे।

‘मैदान में उतरना निश्चित रूप से बेहतर’

बोल्ट ने कहा मुझे शुरुआत में इस मैच में खेलने की उम्मीद नहीं थी, लेकिन बाद में स्थितियां ठीक हो गई और मैं खुद मौका लेना चाहता था। मुझे लगता है कि मैदान में उतरना निश्चित रूप से बेहतर होगा। नेट पर अभ्यास करना मैच खेलना जैसा नहीं है। मैच में आपके पास दिन में तीन चार या पांच बार वापसी करने का मौका होता है।

पति के सामने ही मायके के प्रेमी संग फरार हुई पत्नी, पति ने लगाई पुलिस से गुहार

Previous article

उत्तराखंड: सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर ने केदारनाथ धाम का किया भ्रमण, व्यवस्थाओं का लिया जायजा

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured