September 26, 2022 8:19 am
featured Sputnik News - Hindi-Russia दुनिया

तिब्बत में शुक्रवार सुबह महसूस किए गए भूकंप के तेज झटके, दहशत में लोग

quake तिब्बत में शुक्रवार सुबह महसूस किए गए भूकंप के तेज झटके, दहशत में लोग

बीजिंग: तिब्बत में शुक्रवार सुबह भूकंप के तेज झटके महसूस किये गये जिसके कारण लोग दहशत में हैं. चीन भूकंप नेटवर्क केंद्र (सीईएनसी) की मानें तो सुबह 09:33 बजे आये भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 5.9 मापी गयी. आपको बता दें कि कोरोना वायरस के कारण चीन का हाल बेहाल है. इस बीच भूकंप के तेज झटकों ने लोगों के दिलों में भय पैदा कर दिया है. भूकंप के झटके के बाद लोग घरों से बाहर निकल गये और खुले स्थान की ओर भागे.

जानकारी के अनुसार चीन के दूरवर्ती हिमालयी क्षेत्र तिब्बत में शुक्रवार को 5.9 तीव्रता का भूकंप आया. यह क्षेत्र नेपाल के नजदीक है. चीन भूकंप नेटवर्क्स केंद्र के अनुसार, भूकंप का केंद्र 28.63 डिग्री उत्तरी अक्षांश और 87.42 डिग्री पूर्वी देशांतर पर 10 किलोमीटर की गहराई में स्थित था. स्थानीय सरकार ने बताया कि माउंट एवरेस्ट के समीप तिब्बत के शिगात्से शहर की तिंगरी काउंटी में सुबह नौ बजकर 33 मिनट पर भूकंप के झटके महसूस किये गये. भूकंप के कारण मकान ढहने या यातायात और संचार सेवाओं के बाधित होने की कोई खबर नहीं है.

शिन्हुआ समाचार एजेंसी की खबर के अनुसार, काउंटी सरकार ने और जानकारी जुटाने के लिए अधिकारियों को गांवों और शहरों में भेजा है. तिंगरी की सीमा नेपाल के दक्षिण हिस्से से लगती है. काउंटी के ज्यादातर इलाके माउंट एवरेस्ट नेशनल नेचर रिजर्व के हैं. भूकंप के केंद्र स्थल पर दमकल की नौ गाड़ियों को भेजा गया. 100 से अधिक दमकलकर्मियों और दर्जनों वाहनों को तैयार रहने को कहा गया है.

इस बीच, नेपाल की राजधानी काठमांडू और आसपास के जिलों में भी भूकंप के झटके महसूस किये गये हैं. काठमांडू में राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र ने भूकंप की तीव्रता 6.2 मापी. भूकंप के झटके सुबह सात बजकर 18 मिनट पर महसूस किये गये. भूकंप का केंद्र तिब्बत के क्विलिंग में था. जान-माल के नुकसान की कोई खबर नहीं है. पांच दिन पहले नेपाल के पश्चिमी पर्यटक शहर पोखरा में पांच तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किये गये थे.

Related posts

CBI ने तृणमूल युवा कांग्रेस के महासचिव के आवास पर की छापेमारी, गाय तस्करी का मामला

Aman Sharma

लॉकडाउन के बीच कैसे खुले गंगोत्री-.यमुनोत्री के कपाट?, इस बार कैसे की जाएगी चारों धाम यात्रा..

Mamta Gautam

आखिर क्यों चढ़ाते हैं शनिदेव को तेल, जानिए क्या है धार्मिक कारण

Aditya Mishra