Breaking News featured यूपी राज्य

कासगंज में फिर तनाव की स्थिति बनी, धार्मिक स्थल की दीवार को तोड़ा

kasganj 222 कासगंज में फिर तनाव की स्थिति बनी, धार्मिक स्थल की दीवार को तोड़ा

कासगंज। उत्तर प्रदेश के कासगंज में कल दिनभर शांति कायम होने के बाद मंगलवार को एक बार फिर तनाव बढ़ गया है। दरअसल कासगंज में एक धार्मिक स्थल की बाहरी दीवार को गिराए जाने से एक बार फिर शहर का माहौल खराब हो गया है। पुलिस अधीक्षक पीयूष श्रीवास्तव ने बताया कि मंगलवार सुबह कुछ उपद्रवियों ने धार्मिक स्थल की बाहरी दीवार गिरा दी,जिससे लोगों में गुस्सा साफतौर पर देखा जा रहा है। हालांकि, मौके पर पयार्प्त सुरक्षाकर्मी तैनात हैं। उन्होंने बताया कि धार्मिक स्थल के कुछ हिस्सों को क्षति पहुंचाने की असफल कोशिश की गई।  उन्होंने बताया कि इस घटना को अंजाम देने वाले लोगों को गिरफ्तार करने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। kasganj 222 कासगंज में फिर तनाव की स्थिति बनी, धार्मिक स्थल की दीवार को तोड़ा

आपको बता दें कि सोमवार देर शाम एक कपड़े की दुकान में आग लगाए जाने के बाद ये आशंका जताई जा रही थी कि रात में कोई घटना घट सकती है। कासगंज में इंटरनेट सेवा बहाल कर दी गई है और मामले की जांच के लिए चार सदस्यीय विशेष जांच दल का गठन कर दिया गया है। गौरतलब है कि गणतंत्र दिवस के अवसर पर निकाली गई तिरंगा यात्रा के दौरान सांप्रदायिक हिंसा भड़क गई थी, जिसमें चंदन गुप्ता नाम के एक युवक की मौत हो गई थी। इसके बाद शहर में बड़े पैमाने पर हिंसा हुई थी और बसों, कारों और विशेष समुदाय की दुकानों को आग के हवाले कर दिया गया था।

घटना में मारे गए युवक चंदन गुप्ता के परिजनों को सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 20 लाख रुपये की आर्थिक मदद देने का ऐलान किया है। श्रीवास्तव ने बताया कि संवेदनशील इलाकों में पुलिस गश्त कर रही है। स्थिति पर कड़ी नजर रखी जा रही है। 160 से अधिक लोगों की गिरफ्तारी की जा चुकी है। कासगंज में हर हाल में स्थिति सामान्य करने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने स्वीकार किया कि कल शाम तक स्थिति सामान्य हो गयी थी, लेकिन रात में कपड़े की दुकान में लगायी गयी आग और सुबह एक धार्मिक स्थल की गिरायी गयी चहारदीवारी के बाद माहौल तनावपूर्ण है लेकिन पूरी तरह नियंत्रण में है।

 

Related posts

Breaking News

मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी होगी आधुनिक सविधाओं से लैस, जानिए और क्या-क्या है खासियत?

Saurabh

दिल्ली: दयाल सिंह कॉलेज का नाम बदलकर ‘वंदे मातरम महाविद्यालय’ रखने पर हो रहा विचार

Breaking News