Compared to last year this year 59 reduction in gold imports आज से लागू हो रहा गोल्ड हॉलमार्किंग का नियम, इन बातों का रखना होगा ध्यान
15 जून यानि आज से सोने के गहनों और कलाकृतियों पर हॉलमार्किंग को जरूरी कर दिया गया है। आपको बता दें कि लगभग डेढ़ साल के इंतजार के बाद इन नियमों को लागू किया जा रहा है। हालांकि गोल्ड हॉलमार्किंग लागू होने के बाद ग्राहकों को कई तरह के फायदे मिलेंगे।
आज से गोल्ड हॉलमार्किंग अनिवार्य किया जा रहा है। ऐसे में अगर आप सोना खरीदना चाहते हैं तो आपको इन बातों का जानना बहुत जरूरी है। सरकार की ओर से सोने के आभूषण और कलाकृति की शुद्धता की पहचान के लिए बीआईएस हॉलमार्किंग अनिवार्य कर दिया जाएगा। गोल्ड हॉलमार्किंग को लेकर केंद्र सरकार ने लगभग डेढ़ साल पहले यह प्लान तैयार किया था। हालांकि जब देश में कोरोना आया था तो इन आदेशों को लागू नहीं किया गया था । सरकार की ओर से जारी किए गए निर्देश में कहा गया है कि अब दुकानदार केवल बीआईएस प्रमाणित सोने के गहने ही बेचें।
लोगों के मन में उठ रहे सवाल 
सरकार के नए नियम सामने आने के बाद लोगों के मन में कई तरह के सवाल उठ रहें हैं। ऐसे में हम आपको बताना चाहते हैं कि सरकार की ओर से जारी इस आदेश के मुताबिक सभी ज्वेलर्स को सोने के गहने या कलाकृति बेचने के लिए बीआईएस स्टैंडर्ड के मानकों को पूरा करना होगा। 14 कैरेट, 18 कैरेट और 22 कैरेट शुद्धता वाले सोने की हॉलमार्किंग की जाएगी। जिससे लोगों को काफी हद तक लाभ मिलेगा।
ग्राहक आनलाॅइन कर सकतें हैं शिकायतें
अगर कोई दुकानदार ग्राहकों के साथ धोखाधड़ी करता है तो ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड से किसी भी गड़बड़ी को लेकर ऑनलाइन और ऑफलाइन तरीके से शिकायत कर सकता है। ऑनलाइन शिकायत दर्ज करवाने के लिए बीआईएस के मोबाइल ऐप या कम्प्लेन्ट रजिस्ट्रेशन पोर्टल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा किसी भी नजदीकी ब्रांच के लोक शिकायत अधिकारी के पास भी शिकायत कर सकते हैं।  इसके अलावा हॉलमार्किंग का यह नियम सोने के गहने बेचने वाले ज्वेलर्स के लिए लागू किया जाएगा।  ग्राहक अपनी ज्वेलरी बिना हॉलमार्क के ही बेच सकते हैं।
आपको बता दें कि अगर कोई दुकानदार ऐसा नहीं करता है तो बीआईएस एक्ट, 2016 के सेक्शन 29 के तहत एक साल तक की जेल या 1 लाख रुपये से अधिक का जुर्माना भरना पड़ सकता है। इसके अलावा अगर कोई दुकानदार ग्राहक के साथ हॉलमार्किंग के नियमों में धोखाधड़ी करता है तो बीआईएस के नियम के मुताबिक ग्राहकों को वास्तविक रेट में अंतर की दोगुनी राशि देना होगा।

कोरोना अपडेट: 24 घंटों में आए 60 हजार से ज्यादा केस, 2,726 की मौत

Previous article

अब गांव-गांव चलेगा वैक्सीनेशन अभियान, जुलाई में हर दिन 10 लाख को टीका

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured