f0288309 3a9c 43cd aaab f7664c9913fe राहत की खबरः देश में धीमी पड़ी कोरोना की रफ्तार, तीसरे दिन 19 हजार से कम केस
प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली। नए साल के बाद कोरोना महामारी से बचाव के लिए आए दिन खुशखबरी सामने आ रही है। सभी देशों द्वारा कोरोना से बचाव के लिए अपने देशों के नागरिको को वैक्सीन दी जाने लगी है। वहीं दूसरी तरफ भारत में भी वैक्सीन को लेकर बड़ी खबर बीते शनिवार को सामने आई है। देश में 16 जनवरी से वैक्सीनेशन शुरू हो जाएगा। इसी बीच कोरोना मरीजों को लेकर बड़ी खबर ये भी आ रही है कि देश में अब संक्रमितों की संख्या भी घटने लगी है। बीते दिन भी भारत में ब्राजील, ब्रिटेन, रूस, साउथ अफ्रीका, फ्रांस, इटली, जर्मनी से कम केस आए हैं। लगातार तीसरे दिन 19 हजार से कम नए कोरोना केस आए।

24 घंटे में 18,645 नए संक्रमित मरीज आए-

बता दें कि कोरोना महामारी से चारों तरफ अफरा-तफरी मची हुई थी। लेकिन सभी देशों के प्रयाास से इस महामारी से बचाव के लिए वैक्सीन निर्माण हो गया है। लगातार तीसरे दिन 19 हजार से कम नए कोरोना केस आए। देश में अब संक्रमितों की संख्या भी घटने लगी है, पिछले 24 घंटे में 18,645 नए संक्रमित मरीज आए हैं, 201 लोग कोरोना से जिंदगी की जंग हार गए। अच्छी बात ये है कि बीते दिन 19,299 मरीज कोरोना से ठीक भी हुए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार, भारत में कोरोना के कुल मामले बढ़कर 1 करोड़ चार लाख 50 हजार हो गए हैं। इनमें से अब तक एक लाख 51 हजार लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। कुल एक्टिव केस घटकर 2 लाख 23 हजार पर आ गए। अब तक कुल एक करोड़ 75 हजार लोग कोरोना से ज्यादा ठीक हो चुके हैं।

सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में-

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के मुताबिक, 9 जनवरी तक कोरोना वायरस के लिए कुल 18 करोड़ 10 लाख कोरोना के सैंपल टेस्ट किए गए, जिनमें से 8.43  लाख सैंपल कल टेस्ट किए गए। राहत की बात है कि मृत्यु दर और एक्टिव केस रेट में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। देश में कोरोना से मृत्यु दर 1.45 फीसदी है जबकि रिकवरी रेट 96 फीसदी से ज्यादा है। एक्टिव केस 2.15 फीसदी है। सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में हैं। एक्टिव केस मामले में दुनिया में भारत का 13वां स्थान है। कोरोना संक्रमितों की संख्या के हिसाब से भारत दुनिया का दूसरा सबसे प्रभावित देश है।

हिंदी प्रेमियों के लिए आज खास दिन, जानें कब मनाया गया पहला ‘विश्व हिंदी दिवस’

Previous article

इस्तीफे से पहले ट्रंप पर महाभियोग चलाने की चर्चा तेज, जानें क्या है पूरा मामला

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.