September 29, 2021 5:13 am
Breaking News featured देश भारत खबर विशेष राजस्थान

किसान आंदोलनः किसानों ने जलाई इस अखवार की होली, जानें क्या है पूरा मामला

WhatsApp Image 2021 01 29 at 6.15.21 PM किसान आंदोलनः किसानों ने जलाई इस अखवार की होली, जानें क्या है पूरा मामला

भरतपुर से अनिल चौधरी की रिपोर्ट

भरतपुर। किसान आंदोलन संयुक्त संघर्ष समिति के संयोजक मनुदेव सिनसिनी के नेतृत्व में आज भरतपुर के किसानों ने किसान के खिलाफ जहरीली भाषा का इस्तेमाल करने वाले पत्रकार एल पी पंत के खिलाफ नारेबाजी की और दैनिक भास्कर अखबार की होली जलाई। दैनिक भास्कर के मुख्य संपादक एल पी पंत ने किसानों के लिए अपने ट्वीट में भेड़िया, डकैत, लुटेरा और दंगाई जैसे शब्द इस्तेमाल किये थे और सरकार से किसानों से बॉर्डर खाली कराने के लिए लिखा था। लोकतंत्र में किसी समाचार पत्र की ऐसी असभ्य और अमर्यादित भाषा का हम विरोध करते हैं। पत्रकार का काम है खबर को जनता तक पहुंचाना ना कि अनर्गल भाषा का इस्तेमाल करना।किसी को चोर लुटेरा या डकैत साबित करना कोर्ट का काम है। मीडिया ट्रायल को कोर्ट भी गलत कह चुका है। पत्रकारिता एक जिम्मेदारी भरा काम है, इसीलिए इसे लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहा जाता है। हम किसान अपने हितों के प्रति जागरूक हैं, किसी भी असभ्य और असंवैधानिक बात का हम सभ्य और संवैधानिक तरीके से विरोध करेंगे।

टिकैत के आंसुओं की एक एक बूंद का हिसाब सरकार से लिया जायेगा- देशराज हंतरा 

बता दें कि मनुदेव सिनसिनी ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि 26 जनवरी को सरकार ने साजिशन आंदोलन को बदनाम करने हेतु अपने लोगों से गलत हरकत करवाई। ऐसा कैसे हो सकता है कि दो महीने से शांतिपूर्ण बैठे हुआ किसान ऐसा असंवैधानिक और हिंसक कदम उठायें। यह आंदोलन को बदनाम कर उसे सरकार द्वारा बलपूर्वक हटाने की साजिश लगती है। भारतीय किसान संगठन के जिलाध्यक्ष देशराज हंतरा ने कहा कि राकेश टिकैत के आँखों में आँसू देखकर पूरे देश का किसान व्यथित है। उनके आंसुओं की एक एक बूंद का हिसाब सरकार से लिया जायेगा। इसके साथ ही कर्मचारी नेता रामगोपाल चौधरी ने कहा कि किसानों को कमजोर समझकर मोदी सरकार ने बहुत बड़ी भूल की है। आंदोलन अब कमजोर नहीं बल्कि मजबूत होगा। इसके साथ ही भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष मेवाराम बरखेड़ा ने कहा कि किसान कौम के अगुआ राकेश टिकैत जी पर सरकार की इस तरह की तानाशाही कतई सहन नहीं की जायेगी। भरतपुर का किसान गाज़ीपुर पहुँचकर राकेश टिकैत और किसान आंदोलन को मजबूत करेगा।

आज पूरे देश का किसान राकेश टिकैत जी के साथ खड़ा है- मनुदेव 

वहीं जितेंद्र सिंह ने कहा कि आज देश का मजदूर वर्ग किसानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है। एस सी एस टी समाज के सभी लोग किसान आंदोलन में गाज़ीपुर बॉर्डर चलने को तैयार हैं। इस अवसर पर मनुदेव सिनसिनी ने कहा कि 30 जनवरी को प्रातः 11 बजे कलेक्टरेट पर राकेश टिकैत के समर्थन में किसान पंचायत का आयोजन किया जायेगा। पंचायत में किसानों के समर्थन में गाज़ीपुर बॉर्डर जाने के बारे में चर्चा और निर्णय किया जायेगा।भरतपुर से हजारों की संख्या में किसानों के जत्थे गाज़ीपुर जायेंगे। जिसके दिल में आज लगी हो वो घर नहीं बैठ सकता। मनुदेव सिनसिनी ने कहा कि ग्रामीण इलाकों में कहावत है कि जल और कुल को मिलने में समय नहीं लगता। आज पूरे देश का किसान एक कुनबे की तरह राकेश टिकैत जी के साथ खड़ा है। हम अपनी जान देकर भी किसान और किसानी को बचाने के लिए तैयार हैं। टिकैत के एक एक आँसू के लिए हजारों युवा अपना खून बहाने को तैयार हैं।

Related posts

प्रयागराज: हंडिया क्षेत्र के दर्जनों गांव बाढ़ की चपेट में, लोग घरों से पलायन को मजबूर

Shailendra Singh

पंजशीर घाटी में जारी भीषण लड़ाई, तालिबान और प्रतिरोधी बल दोनों ने किया बढ़त का दावा

nitin gupta

उत्तराखंड में सामने आए कोरोना के नए मामले, कोविड-19 से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर हुई 92

Rani Naqvi