featured यूपी

रक्षामंत्री से मिलकर व्यापारिक संगठन ने कही यह बात,जानिए

rajnath singh रक्षामंत्री से मिलकर व्यापारिक संगठन ने कही यह बात,जानिए

लखनऊ। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह राजधानी के दो दिवसीय दौरे पर हैं,इस दौरान आज लखनऊ व्यापार मंडल के एक प्रतिनिधिमंडल ने मिलकर 5 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सौंपा।

जिसमें मुख्य रुप से वैश्विक  महामारी कोविड-19 से मृत्यु पर पंजीकृत व्यापारियों को जीएसटी विभाग द्वारा मिलने वाले 10 लाख बीमा का लाभ दिलाने की  मांग शामिल रही।

अध्यक्ष राजेंद्र कुमार अग्रवाल ने बताया कि सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग के दायरे में खुदरा एवं थोक व्यापार को सम्मिलित करके सरकार ने बहुत ही बेहतरीन कार्य किया है।

रक्षा मंत्री से व्यापारियों ने मिलकर कहा कि यह चुनावी वर्ष है यदि केवल लखनऊ में देखा जाए तो 50,000 से अधिक और पूरे प्रदेश में लगभग 16 लाख से अधिक व्यापारी जीएसटी में पंजीकृत हैं, दुकान में 5 से 50 तक का स्टाफ काम करता है, यदि हम कम से कम प्रत्येक दुकान में 5 स्टाफ के अनुपात से देखें तो केवल लखनऊ (Lucknow)  में ही ढाई लाख परिवारों को रोजगार देकर उन का भरण- पोषण कर रहे हैं, यदि पल्लेदार एवं ट्रांसपोर्ट को जोड़ दिया जाए तो एक बड़ी चेन तैयार हो जाएगी, ऐसे में इस वर्ग को यदि उपेक्षित रखा जाता है, तो यह अनैतिक होगा।

इसके अलावा व्यापारियों द्वारा दिए गए ज्ञापन में यह भी कहा गया कि आवश्यक वस्तुओं को छोड़कर सभी प्रकार की वस्तुओं की ऑनलाइन बिक्री पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाई जाए। क्योंकि ट्रेडर्स व्यापारियों के पास लाक डाउन लग जाने के कारण माल का स्टाक डम हो गया,अब कोई सहालग व त्योहार नहीं है, यदि ऑनलाइन कारोबार पर रोक नहीं लगाई गई, तो व्यापारियों के पास माल रखा रह जाएगा। वही व्यापारियों की एक मांग यह भी रही कि जीएसटी के रिटर्न का आयकर भरने की आखिरी तारीख 30 जून से बढ़ाकर 30 सितंबर कर दिया जाए।

इस अवसर पर मुख्य रूप से राजेंद्र कुमार अग्रवाल, वरिष्ठ महामंत्री अमरनाथ मित्र, वरिष्ठ उपाध्यक्ष जीतेंद्र सिंह चौहान, सतपाल मीत, रविंद्र गुप्ता,अमिताभ श्रीवास्तव मीडिया महामंत्री अभिषेक खरे सुहैल हैदर अली,विजय शर्मा,भारत भूषण गुप्ता मौजूद रहे।

Related posts

मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रहे ग्रामीण, कॉलोनी बनाने में धांधली

kumari ashu

पटरी पर ट्रेनों के टकराने के मामले में चालक निलंबित

Rani Naqvi

पीएम मोदी की सुरक्षा बैठक में भिड़े SSP और SP, पुलिसवाले देखते रहे मैच

Srishti vishwakarma