featured जम्मू - कश्मीर

अमरनाथ यात्रा पर हमले की आंतकियों ने रची साज़िश, आतंक का कोड रखा ‘130’

amarnath yatra अमरनाथ यात्रा पर हमले की आंतकियों ने रची साज़िश, आतंक का कोड रखा ‘130’

जिस तरह से जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने आतंकियों का सफाया करने के लिए ऑपरेशन चलाया हुआ है।

श्रीनगर: जिस तरह से जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने आतंकियों का सफाया करने के लिए ऑपरेशन चलाया हुआ है। इससे बौखलाए हुए आतंकी अमरनाथ यात्रा को अपना निशाना बना सकते हैं। कश्मीर में आतंकी हाइवे नंबर-44 को हमले की साजिश कर सकते हैं। हालांकि सुरक्षाबल आंतकियों की इस साजिश को कभी कामयाब नहीं होने देंगे। क्योंकि अमरनाथ यात्रा को लेकर सेना और सरकार दोनों चौकस हैं। 21 जुलाई को बाबा बर्फानी के भक्त पूरी श्रद्धा के साथ पवित्र गुफा के दर्शन करेंगे।

कश्मीर में आतंक का ‘कोड 130’

कहते हैं जब त्रिनेत्र खुलती है तो बुराई का खात्मा होता है ठीक ऐसे ही सेना आंतक का खात्मा करने के लिए सेना ने अपनी त्रीनेत्र खोल रही है। सेना के ऑपरेशन से आतंकी बोखलाएं हुए हैं और उनमें भगदड़ मची हुई है। जिस तरह से अमरनाथ यात्रा को लेकर सेना की तैयारी है उसे देखते हुए आंतकी भक्तों का बाल भी बांका नहीं कर पाएंगे।

अमरनाथ यात्रा 21 जुलाई से 3 अगस्त तक चलेगी। इस वक्त दक्षिण कश्मीर में 100से ज्यादा आंतकियों के सक्रीय होने की खबर है। वहीं पाकिस्तान के भई 30 आंतकी हमले की फिराक में है। 2019 में भी आतंकी अमरनाथ यात्रा पर हमले की साजिश किए बैठे थे लेकिन सेना ने आंतकियों के मनसूबों पर पानी फेर दिया था। इस साल भी सेना आंतकियों के खिलाफ बड़ा ऑपरेशन चलाया हुआ है।

https://www.bharatkhabar.com/priyanka-chopra-birthday-special/

रोजाना 500 तीर्थयात्री ही कर सकेंगे पवित्र गुफा के दर्शन

देश में कोरोना संकट के चलते इस साल 500 यात्री रोजाना यात्रा कर पाएंगे। वहीं 55 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को यात्रा में शामिल होने की अनुमति नहीं दी गई है। साथ ही यात्रा के दौराना सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन करना अनिवार्य होगा।

दक्षिण कश्मीर के कुलगाम सेना ने तीन आतंकियों को मारा गिराया

अमरनाथ यात्रा शुरू होने से पहले ही सुरक्षाबलों ने दक्षिण कश्मीर में सर्च ऑपरेशन चलाया और तीन आंतकियों को ढेर कर दिया है। सेना के अधिकारी का कहना है कि हर साल होने वाली यात्रा की पूरी सुरक्षा व्यवस्था की गई है, और संसाधनो का भी इंतजाम किया गया है। अधिकारी ने कहा कि शुक्रवार कोतीन आंतकियों मार गिराना आंतक को कड़ा जवाब देना है।

टू सेक्टर के कमांडर, ब्रिगेडियर विवेक सिंह ठाकुर ने दक्षिण कश्मीर में प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, “इस बारे में खुफिया सूचना है कि आतंकवादी यात्रा को निशाना बनाने की अपनी पूरी कोशिश करेंगे, लेकिन इसके निर्बाध एवं शांतिपूवर्क संपन्न होने की व्यवस्था की गई है तथा संसाधन लगाये गए हैं.”

उन्होंने कहा, “हम अमरनाथ यात्रा बगैर किसी विघ्न के शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने के लिए प्रतिबद्ध हैं और सुरक्षा स्थिति नियंत्रण में बनी रहेगी. ‘ ब्रिगेडियर ठाकुर ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग 44 के एक हिस्से का उपयोग यात्री करेंगे, जो संदेनशनील बना रहेगा. उन्होंने कहा, “यह हिस्सा थोड़ा संवेदनशील है. यात्री सोनमर्ग (गंदेरबल) तक जाने के लिये इस रास्ते का उपयोग करेंगे और यह (बलटाल) एकमात्र मार्ग है, जो अमरनाथ गुफा जाने के लिए चालू रहेगा.”

Related posts

सुरक्षाबलों ने शौपियां में चार संदिग्ध दबोचे, हथियार बरामद

Ravi Kumar

Delhi: #लॉकडाउन के ऐलान के बाद पलायन की तस्वीरें, देखें CM केजरीवाल की अपील

Saurabh

सिर्फ उद्योगपतियों से देश नहीं चलता- राहुल गांधी

Pradeep sharma