WhatsApp Image 2021 01 28 at 5.57.07 PM 1 गाजीपुर बाॅर्डर पर हटाए जा रहे किसानों के टेंट, सरेंडर कर सकते हैं राकेश टिकैत
CM योगी, फाइल फोटो

नई दिल्ली। दिल्ली में हिंसा के बाद किसानों पर पुलिस की लगातार कार्रवाई जारी है। दिल्ली पुलिस ने 37 किसान नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। वही, उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने सभी डीएम और एसएसपी को प्रदेश में धरना खत्म कराने के आदेश दे दिए हैं। योगी के फरमान के बाद गाजियाबाद के डीएम ने किसानों को धरनास्थल खाली करने का आदेश दिया है। डीएम के आदेश के बाद गाजीपुर बॉर्डर पर हलचल तेज हो गई है. यहां पर प्रशासन किसानों के टेंट को हटाने में जुट गया है. वहीं, किसान नेता राकेश टिकैत मंच पर किसानों को संबोधित करने जा रहे हैं. बताया जा रहा है कि वो सरेंडर कर सकते हैं।  इससे पहले धरना खत्म करने के लिए गाजियाबाद प्रशासन और पुलिस के आला अधिकारियों ने राकेश टिकैत को समझाया।

 

WhatsApp Image 2021 01 28 at 5.56.27 PM 1 गाजीपुर बाॅर्डर पर हटाए जा रहे किसानों के टेंट, सरेंडर कर सकते हैं राकेश टिकैत

गाजीपुर बाॅर्डर खाली करने के आदेश-

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के फरमान के बाद गाजियाबाद के जिलाधिकारी ने किसानों को धरनास्थल खाली करने का आदेश दिया है।  बता दें कि अब से कुछ देर पहले योगी सरकार ने सभी जिलाधिकारियों और पुलिस-प्रशासन को धरना खत्म कराने के निर्देश दिए थे।  यूपी गेट पर धरनास्थल को खाली कराने के लिए जिला प्रशासन के द्वारा किसानों को अल्टीमेटम दे दिया गया है।  धरनास्थल आज रात तक खाली हो सकता है।  जिला मजिस्ट्रेट अजय शंकर पांडेय सहित वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी एवं पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर मौजूद हैं।  धरनास्थल को खाली कराने की जिला प्रशासन के द्वारा पूरी तैयारी की गई है।  वहीं, सिंघु बॉर्डर पर हलचल तेज हो गई है।  बड़ी संख्या में लोग प्रदर्शन कर रहे हैं।  प्रदर्शनकारियों का दावा है कि ये लोग स्थानीय लोग हैं और 26 जनवरी को जो कुछ हुआ उसके बाद ये नहीं चाहते कि किसान यहां पर प्रदर्शन करें।  लोग ‘सिंघु बॉर्डर खाली करो’ का नारा लगा रहे हैं।  हाथों में तिरंगा लिए लोग प्रदर्शन कर रहे हैं ‘तिरंगे का अपमान नहीं सहेगा हिंदुस्तान’ नारेबाजी करते हुए बॉर्डर को खाली करने की मांग कर रहे हैं।

 

स्पेशल सेल करेगी हिंसा की जांच-

दिल्ली में 26 जनवरी को हुई हिंसा के मामले की 9 FIR क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर की गई है. दिल्ली हिंसा की जांच क्राइम ब्रांच के साथ स्पेशल सेल भी करेगी.

 

 

ऋषभ पंत ने नया घर खरीदने के लिए फैंस से पूछी लोकेशन, जानें यूजर्स ने कैसी दी सलाह

Previous article

किसान आंदोलन: गाजीपुर बॉर्डर पर भारी फोर्स तैनात, रोने लगे राकेश टिकैत

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.