अंबाला

किसानों का आंदोलन आज दसवें दिन भी जारी है. किसान कड़कती ठंड में दिल्ली के बॉर्डर पर डटे हुए हैं किसानों ने चारों ओर से राजधानी को घेर लिया है. वहीं आज किसान संगठनों और सरकार के बीच में पांचवे दौर की बैठक है. आज दोनों को ही उम्मीद है कि कुछ हल तो जरूर निकलेगा.

पांचवे दौर की बैठक आज
चार बैठकों के बाद आज पांचवे दौर की बैठक है. किसान MSP के खत्म होने के डर से कृषि कानूनों को हटाने की मांग को लेकर अड़े हुए हैं. वहीं सरकार का कहना है कि किसी कीमत पर MSP और मंडी व्यवस्था खत्म नहीं होगी. किसानों का कहना है कि सरकार को तीनों कृषि कानूनों को वापिस लेना ही होगा. जब तक सरकार इन कृषि कानूनों को वापिस नहीं लेती तब तक आंदोलन जारी रहेगा.

पूरे देश में जलाए जाएंगें पूतले
आज देशभर में सरकार और कॉरपोरेट के पूतले जलाए जाएंगे. किसानों की तरफ से साफ तौर पर कहा गया है कि अगर आज यानि शनिवार की बैठक में सरकार हमारी मांगें नहीं मानती है तो आंदोलन को और बढ़ाया जाएगा.

8 दिसंबर को भारत बंद!
कृषि कानूनों पर आज पांचवे दौर की बैठक है. इस बैकठ से पहले शुक्रवार को सुबह किसानों ने लंबी बैठक की और मंथन किया. किसानों ने बैठक के बाद साफ कहा कि सरकार कानूनों में संशोधन के लिये तैयार है, लेकिन हमारी मांग है कि कानूनों को वापिस लिया जाए. साथ ही किसानों ने कहा कि अगर सरकार ने हमारी मांग नहीं मानी को 8 दिसंबर को भारत बंद किया जाएगा.

तीन दिन पहले दुल्हन आई कोरोना पाॅजिटिव तो फिर दूल्हे ने इस अनोखे अंदाज में रचाई शादी

Previous article

सरकार और किसानों के बीच पांचवे दौर की वार्ता आज, किसानों ने 8 दिसंबर को किया भारत बंद का ऐलान

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.