featured दुनिया साइन्स-टेक्नोलॉजी

बिना एस्ट्रोनॉट वाले दल ने सफलतापूर्वक धरती पर लौट रचा इतिहास

maxresdefault 2 बिना एस्ट्रोनॉट वाले दल ने सफलतापूर्वक धरती पर लौट रचा इतिहास

अंतरिक्ष पर जाने का ख्वाब हर किसी का होता है। लेकिन अब तक इस सपने को पूरा करने के लिए आम आदमी को एस्ट्रोनॉट बनना पड़ता था। जिसकी अपनी तरह की एक अलग प्रक्रिया है। लेकिन बीती रात ऐसा कुछ हुआ जिसने इस सोच को ही बदल दिया। चार आम लोग जो कोई अंतरिक्ष वैज्ञानिक नहीं थे। उन्होंने अंतरिक्ष की यात्रा पूरी कर धरती पर वापसी कर ली। अतंरिक्ष में तीन दिनों तक यात्रा करने के बाद इंस्पिरेशन फोर एक्स के चार अंतरिक्ष यात्री धरती पर सफलतापुर्वक लौट आए। इनकी लैंडिंग अटलांटिक सागर में हुई। इस सफलता को हासिल करने वाले ये चारों यात्री कोई अंतरिक्ष वैज्ञानिक नहीं है। बल्कि आम लोग थे।

download 19 बिना एस्ट्रोनॉट वाले दल ने सफलतापूर्वक धरती पर लौट रचा इतिहास

बता दें कि ऐसा पहली बार हुआ था कि किसी आम लोगों की टीम अंतरिक्ष पर गई हो। इंस्पिरेशन फोर एक्स का क्रू इस्पेस एक्स कैप्सूल में बुधवार को फोरिडा से रवाना हुआ था। और फोरिडा के ही सागर तट पर शनिवार को स्तानीय समय के अनुसार शाम 7 बजे लैंड हुआ। चारों पेराशूट जब पानी की सतह पर पहुंचने वाले थे तो उससे पहले उनकी रफ्तार धीमी हो गई थी। निचे एक्सप्रेस की बोट उन्हे लेने के लिए इंतेजार कर रही थी। इं इंस्पिरेशन फोर एक्स टीम की अगुवाई अरबपति कारोबारी जेयडे आइजाकमैन कर रहे थे। जेयडे आइजाकमैन ईकॉमर्स कंपनी शिफ्ट ऑफ पेमिंट इंक के सीईओ हैं, और उन्होंने इस मिशन में एक कमांडर की भूमिका निभाई थी।

NASA SpaceX crew dragon बिना एस्ट्रोनॉट वाले दल ने सफलतापूर्वक धरती पर लौट रचा इतिहास

अंतरिक्ष यात्रा पर जाने के लिए जेयडे आइजाकमैन ने कितनी कीमत चुकाई इस पर आधिकारिक रूप से कोई जानकारी नहीं है। लेकिन टाइम मैगजीन की रिपोर्ट के अनुसार जेयडे आइजाकमैन ने अरबपति कारोबारी मस्क को ड्रेगन कैप्सूल की चारो सीटों को लिए लगभग 100 मीलियन डॉलर की कीमत चुकाई। जेयडे आइजाकमैन ने इस यात्रा के लिए ती अजनबियों को चुना था। जिनमें नासा के पूर्व एस्ट्रोनेट उम्मीदवार जीओ साइंटिस सियान प्रॉक्टर 51 साल की है। बून कैंसर सर्वाईवर हेइली एक्रेनेऑक्स जो कि 29 साल की है। एरो स्पेस डेटा इंजीनियर और पूर्व एयरफोर्स ऑफिसर क्रिस सेम्ब्रोस्की जो कि 42 साल के हैं। उन्हें शामिल किया था।

Related posts

उप-मुख्यमंत्री बनने के बाद घर लौटे अजीत पवार, समर्थकों से की मुलाकात

Trinath Mishra

फिर से बढ़े पेट्रोल और डीजल के दाम, जानें क्या है आज का रेट

Hemant Jaiman

5 राज्यों में टीबी के मरीजों के लिए उपलब्ध कराई जाएगी फ्रूट फ्लेवर्ड टैबलेट्स

Srishti vishwakarma