featured यूपी

लखनवी चिकन को विदेशों तक ले जाने का काम कर रही हैं अनम

लखनवी चिकन को विदेशों तक ले जाने का काम कर रही हैं अनम

लखनऊ: लखनऊ ही एक ऐसी जगह है, जहां चिकन खाने में और पहनने में इस्तेमाल होता है। यहां की चिकनकारी पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। आज के बदलते माहौल को देखते हुए पुरानी धरोहर लखनवी चिकन को नई तकनीकी से जोड़ने का काम हजरतगंज की रहने वाली अनम(Anam) कर रही हैं।

उन्होंने बीए ऑनर्स अंग्रेजी से करने के बाद लखनवी चिकन के साथ कुछ प्रयोग करने की योजना बनाई। इसे Fire Flies By Anam का नाम दिया गया। इस नए प्रयोग की शुरुआत दिसंबर 2020 में हुई। युवा जब खुद नई सोच और नए प्रयोग करने लगते हैं तो परिवार को भी संतुष्टि हो जाती है। आसपास के लोग भी सकारात्मक दृष्टिकोण दिखाते हैं। कैसे एक आईडिया व्यवसाय के रूप में बढ़ रहा है और किन चुनौतियों का सामना अभी भी करना पड़ रहा है. इन्हीं विषयों पर अनम खान से Bharatkhabar.Com के संवाददाता आदित्य मिश्र ने विशेष बातचीत की-

मुख्यतः चिकन में होता है व्यवसाय

बातचीत के दौरान अनम ने बताया कि उनके ज्यादातर कस्टमर बाहर के हैं, जिसमें दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, गुजरात जैसे बड़े शहर शामिल हैं। यहीं से उन्हें आर्डर मिलता है और उसी के आधार पर कपड़े तैयार करवाए जाते हैं। लखनवी चिकन लोगों को ज्यादा पसंद आता है, इसी पर कारीगरी करके उसके वीडियो और फोटो बनाए जाते हैं, जिन्हें इंस्टाग्राम और ब्लॉगर की मदद से देश दुनिया तक पहुंचाने की कोशिश की जाती है। Fire Flies by Anam दूसरों से इसलिए अलग है क्योंकि कपड़े की गुणवत्ता के साथ कोई भी समझौता नहीं किया जाता। दूसरा अनम ने बताया कि बदलते माहौल और जरूरत के हिसाब से वह अपनी कलाकारी को अपडेट करती रहती हैं।

IMG 20210624 WA0095 लखनवी चिकन को विदेशों तक ले जाने का काम कर रही हैं अनम

NGO की महिलाओं को भी आर्थिक मदद

एक बार आर्डर मिलने के बाद कपड़े को लखनऊ स्थित एनजीओ में महिलाओं की मदद लेकर बनवाया जाता है। इसका सबसे सकारात्मक पहलू यह है कि एक बार ऑर्डर मिलने के बाद इन महिलाओं को भी रोजगार मिल जाता है। उनकी भी आर्थिक मदद हो जाती है। इसीलिए अनम को यह काम और अच्छा लगता है। यह सिर्फ व्यापार नहीं है, इसमें लोगों के चेहरे पर मुस्कान लाने की कोशिश लगातार की जाती है। इस पूरे काम को करने के लिए उनके पास कोई बड़ी टीम नहीं है, अकेले ही सारी चीजों को सहेज कर आगे बढ़ाने की कोशिश करती रहती हैं। कभी कभी अनम की बहन इसमें मदद कर देती हैं।

लॉकडाउन ने किया प्रभावित

अनम कहती हैं कि लॉकडाउन ने उनके बिजनेस पर असर डाला है, जहां पहले हफ्ते में 10 से 15 पीस बिक जाते थे। वहीं अब संख्या काफी कम हो गई है, हालांकि अभी माहौल सुधरने के बाद एक बार फिर उम्मीद जगी है। बदलाव पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि अभी तक पूरा बिजनेस ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर ही चलाया जाता है। आने वाले समय में लखनऊ में एक स्टोर भी खोलने की तैयारी है, जहां क्षेत्रीय लोग आकर सामने से कपड़ों की गुणवत्ता और कलाकारी देख सकेंगे और खरीदारी कर सकेंगे।

IMG 20210624 WA0096 लखनवी चिकन को विदेशों तक ले जाने का काम कर रही हैं अनम

अनम का कहना है कि फैशन ऐसी चीज है, जिसमें आप एक जगह रुक कर नहीं रह सकते। समय के हिसाब से आपको बदलाव करना होता है। इसके अलावा चिकनकारी को लेकर उनका कहना है कि आज के समय में ज्यादातर लोगों को इसके बारे में भी समझ नहीं होती। जिन्हें आइडिया है, वही इसकी वैल्यू समझ सकते हैं। सबसे अच्छी गुणवत्ता का कपड़ा महंगा भी होता है। अगर कम पैसे में अपनी जरूरत पूरी करनी है, तो गुणवत्ता के साथ समझौता करना पड़ेगा। चिकन पर काम करने वाले छोटे कारीगरों को लेकर भी अनम ने चिंता जताई। उन्होंने कहा कि इन सभी लोगों का रोजगार भी प्रभावित हुआ है, जिसे दोबारा पटरी पर आने में काफी वक्त लगेगा।

विदेशों तक फैले हैं कस्टमर

Fire flies by Anam के कस्टमर भारत के अलग-अलग हिस्सों से आते हैं, जिसमें गुजरात, मुंबई, दिल्ली, असम, दक्षिण भारत और पंजाब शामिल है। इसके अलावा विदेशों से भी उन्हें आर्डर मिलता है, जिसमें जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया, यूनाइटेड स्टेट्स जैसे देश शामिल हैं। जहां कस्टमर लखनऊ के चिकन को हंसी खुशी पहनते हैं और कला पर हौसला अफजाई भी करते हैं। उनका कहना है कि सभी ग्राहकों की तरफ से काफी सकारात्मक परिणाम मिलता है, यही उनकी सबसे बड़ी ताकत है।

Related posts

piyush shukla

सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक पीठ आधार समेत आठ मामलों की कल करेगी सुनवाई

Breaking News

पंजाब में लगेगा आतंकवाद पर लगाम, बनाया जाएगा स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप

Breaking News