corona vaccine वैज्ञानिकों की केंद्र से अपील, कहा- कोरोना वैक्सीन की इमरजेंसी मंजूरी लें वापस, करें पुनर्विचार
जानें भारत में कब तक है दवाई के आने की उम्मीद

ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा निर्मित ऑक्सफोर्ड के कोविड-19 टीके ‘कोविशील्ड’ और भारत बायोटेक के स्वदेश में विकसित टीके ‘कोवैक्सीन’ के देश में सीमित आपात इस्तेमाल को रविवार को मंजूरी दी. लेकिन इन्हें लेकर जहां लोगों में एक उम्मीद जागी है, वहीं इनपर कई सवाल भी उठ रहे हैं.

प्रोग्रेसिव मेडिकोज एंड साइंटिस्ट फोरम ने ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया के जरिए 2 वैक्सीन उम्मीदवारों को दिए गए आपातकालीन उपयोग प्राधिकार के लिए मंजूरी वापस लेने की मांग की है. फोरम ने कहा है कि विज्ञान निजी लाभ और राजनीतिक लाभ की खोज में समझौता नहीं कर सकता है. पीएमएसएफ ने वैक्सीन उम्मीदवारों के अनुमोदन को रद्द करने और प्रभावकारिता डेटा और अन्य विचारों के आधार पर टीकाकरण और अनुमोदन रणनीति पर पुनर्विचार करने की मांग की.

भारत ने एक साथ दो वैक्सीन को दी थी मंजूरी

डीसीजीआई ने आपातकालीन उपयोग के लिए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को मंजूरी दी थी. दवा नियंत्रक के जरिए क्लिनिकल परीक्षण मोड में प्रतिबंधित आपातकालीन उपयोग के लिए अनुमति दी गई थी. हालांकि, वैज्ञानिक समुदाय और जन स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने भारत बायोटेक के टीके को मंजूरी देने पर कड़ी आपत्ति जताई है, क्योंकि फर्म को अभी अपने चरण 3 परीक्षणों की प्रभावकारिता डेटा पेश करना है.

केंद्र सरकार ने कोरोना वैक्सीन की तेजी से मंजूरी और वितरण के लिए किसी मूल्य सीमा के बिना इनके एक्सपोर्ट और इंपोर्ट की इजाजत भी दे दी है. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड ने जिन स्थानों पर एक्सप्रेस कार्गो निपटान प्रणाली चालू है, वहां कुरियर के जरिए कोरोना की वैक्सीन के आयात और निर्यात के लिए नियमन में छूट दी है. आपको बता दें भारत में कोरोना की दो वैक्सीन को मंजूरी मिल चुकी है. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोविशील्ड और भारत बॉयोटेक की कोवैक्सीन को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने मंजूरी दी है.

26 जनवरी को किसानों की ट्रैक्टर परेड, कल होगी एक्सप्रेसवे पर रिहर्सल

Previous article

बजट सत्र की तारीखों का हुआ ऐलान, 29 जनवरी से होगा शुरू

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured