September 20, 2021 4:13 am
featured देश

भूटान से लौटे व्यक्ति में पाए गए कोरोना के लक्षण, अस्पताल में भर्ती, अब तक 93 मामले आए सामने

भूटान भूटान से लौटे व्यक्ति में पाए गए कोरोना के लक्षण, अस्पताल में भर्ती, अब तक 93 मामले आए सामने

रांची। Coronavirus भूटान से अपने घर रामगढ़ लौटे युवक में कोरोना वायरस के लक्षण मिले हैं। इसके बाद उसे रिम्‍स के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है। रामगढ़, गोला की  संग्रामपुर पंचायत के बबलोंग गांव निवासी 35 वर्षीय युवक योद्धा मांझी भूटान से 11 मार्च को अपने घर लौटा। वह सूखी खांसी व तेज बुखार से ग्रसित है। शनिवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्राथमिक उपचार के बाद उसे रिम्स रेफर कर दिया गया है।  बता दें कि अब तक देश में कोरोना के 93 मरीज हो गए हैं। 93 लोगों में कोरोना के लक्षण पाए गए हैं।

बता दें कि भूटान में यह मजदूरी करता है। खांसी व बुखार से ग्रसित युवक को दो-तीन दिनों में आराम नहीं मिलने पर शनिवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। यहां प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सकों ने उसे रिम्स रेफर कर दिया। इधर झारखंड के देवघर में कोरोना का संदिग्ध मरीज मिलने से लोगों में डर का माहौल है। यह युवक काम के सिलसिले में पुणे गया था। तबीयत खराब होने के बाद वह वापस लौट गया। शनिवार को इस युवक में कोरोना वायरस के लक्षण मिले हैं। 

इधर देवघर जिले के सारठ थाना क्षेत्र अंतर्गत बरमसिया गांव निवासी बाइस वर्षीय जहांगीर अंसारी में कोरोना के लक्षण पाए जाने के बाद स्वास्थ्य महकमा सक्रिय हो गया है। बताया जाता है कि युवक काम के सिलसिले में आठ मार्च को पुणे गया था। वहां तबीयत खराब होने के बाद वह वापस घर लौट आया। यहां स्थानीय चिकित्सकों ने संदेह के आधार पर उसे शनिवार को मधुपुर रेफरल अस्पताल भेज दिया। युवक को बुखार, खांसी व सर्दी की शिकायत है। उसमें कोरोना के लक्षण मिले हैैं। डॉ. विजय कुमार, सिविल सर्जन, देवघर ने बताया कि विभाग की नजर बनी हुई है। अब वह पहले से काफी बेहतर स्थिति में है। उसे घर में आइसोलेशन में रखा गया है। टीम रविवार को फिर से जांच करने उसके घर जाएगी।

स्वीडन से आई एक युवती के रिखिया पीठ में होने की सूचना पर देवघर की स्वास्थ्य विभाग की टीम तुरंत हरकत में आ गई। सीएस के निर्देश पर डॉक्टरों की टीम यहां पहुंची। हालांकि, पीठ से टीम को बताया गया कि युवती कोलकाता में रुक गई है। इधर, टीम बाहर से आने वाले संदिग्ध मरीजों पर भी नजर रखे हुए है। किसी भी संदिग्ध मरीज का पता चलते ही फौरन उसे दूसरे स्थान पर भेजने की व्यवस्था की गई है।

झारखंड में कोरोना वायरस को लेकर दहशत का माहौल है। हर चेहरे पर खौफ है। न हाथ मिलाने की जल्‍दी, न गले लगने की। मेलजोल भी बेहद कम हो गया है। बाजारों में पहले के मुकाबले बेहद कम भीड़ है, जबकि मॉल-सिनेमाघर खाली पड़े हैं। कोरोना से जागरूकता और सावधानी बरतते हुए विभिन्न संगठनों और संस्थानों की ओर से आयोजित होने वाले आयोजन लगातार स्थगित किये जा रहे हैैं। इन आयोजनों में खेल से लेकर सेमिनार, संगोष्ठी, मिलन समारोह व अन्‍य कार्यक्रम शामिल हैं। निकट भविष्य में होने वाले ज्यादातर सामूहिक आयोजनों को लोग लगभग रद मानकर ही चल रहे हैैं। ऐसा कोई भी आयोजन जिसमें ज्यादा लोग जमा होने वाले हैैं, उन्हें टाल दिया जा रहा है। शनिवार को भी झामुमो केंद्रीय कार्यसमिति की बैठक, राज्य तीरंदाजी चैैंपियनशिप और कई अन्य कार्यक्रमों के स्थगन की घोषणा की गई। वहीं स्टेट बार काउंसिल समेत कई संगठनों ने कोरोना से बचाव लेकर एडवाइजरी जारी की। 

रविवार को मारवाड़ी युवा मंच रांची दक्षिण शाखा एवं महिला जागृति शाखा के तत्वावधान में बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर यात्रियों और ऑटो टैक्सी ड्राइवर के बीच निःशुल्क मास्क वितरण करने की घोषणा की गई थी। मंच की ओर से बताया गया कि मास्क की आपूर्ति नहीं होने के कारण निःशुल्क मास्क वितरण का कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया है। संभवतः अब यह कार्यक्रम अगले सप्ताह मास्क आपूर्ति के बाद आयोजित की जाएगी।

Related posts

नोटबंदी के बाद से डॉयरेक्ट टेक्स और रबी के फसल में हुआ है इजाफाः जेटली

Rahul srivastava

मेरठ: आशिकी में अपने बीवी-बेटे के खून का प्यासा बना पीएसी सिपाही, पीएसी कैंपस के बाहर ही पत्नि पर किया जानलेवा हमला

rituraj

लखनऊः आजादी के 75वीं वर्षगांठ पर ABVP चलायेगी ‘एक गांव एक तिरंगा’ अभियान, जानिए उद्देश्य

Shailendra Singh