पद्मावत पर स्वरा के कड़वे बोल, फिर यूजर्स ने कर दिया ट्रोल

नई दिल्ली। 25 जनवरी को भारी विरोध और विवाद के बीच फिल्म पद्मावत आखिरकार रिलीज हो गई।फिल्म ना सिर्फ रिलीज हुई बल्कि इसे जबरदस्त कमाई भी कर रही है।जब कुछ इस फिल्म का विरोध कर रहे थे तब बॉलीवुड एक साथ खड़ा होकर भंसाली और टीम के साथ था, लेकिन स्वरा भास्करा का इस पर कुछ और ही मानना है।

 

रांझना फेम स्वरा ने फिल्म पद्मावत देखकर संजय लीला भंसाली को तीखी बातें सुनाई।स्वरा ने कहा कि मुझे फिल्म देखकर ऐसा महसूस हुआ जैसे मैं मात्र एक वजाईना या योनि हूं।स्वरा ने फिल्म में ‘सती’ और ‘जौहर’ जैसे आत्म बलिदान के रिवाजों के महिमामंडन की निंदा की।

इस फिल्म में रानी पद्मावती अपने मान के खातिर खिलजी का आगे झुकने से इनकार करते हुए पति की मृत्यु के बाद जौहर कर लेती हैं।इस पर बात करते हुए स्वरा ने कहा कि आपकी महान रचना का अंत मुझे यही लगा।मुझे ऐसा लगा कि मैं एक मात्र वजाईना हूं और इससे ज्यादा कुछ नहीं।स्वरा ने कहा कि महिलाओं को दुष्कर्म के बाद पति, पुरुष रक्षक, मालिक और महिलाओं की सेक्सुएलिटी तय करने वाले पुरुष, आप उन्हें जो भी समझते हों, उनकी मृत्यु के बाद भी महिलाओं को स्वतंत्र होकर जीने का हक है।

स्वरा ने कहा अच्छा होता कि योनि को भी सम्मानित किया जाता। इसके बाहर भी एक दुनिया है आप इसमें सिमट के नहीं रह सकते।अगर एक औरत की योनि पवित्र नहीं है तो उसे जीने का अधिकार नहीं है।मुझे उम्मीद थी कि इस फिल्म में वो सती प्रथा और जौहर की निंदा करेंगे।

जहां स्वरा के ये तीखे बोल बाहर आ रहे थे वहीं कुछ यूजर्स ने उन्हें जमकर लताड़ दिया।र गायिका सुचित्रा कृष्णमूर्ति ने ट्वीट किया कि पद्मावत पर ये नारीवादी बहस क्या बेवकूफी भरी नहीं है? यह महिलाओं की एक कहानी भर है, भगवान के लिए इसे ‘जौहर’ की वकालत न समझें। अपने मतलब के लिए कोई और मुद्दा उठाएं, जो ऐतिहासिक कहानी न होकर वास्तव में हो।

स्वरा और भी ट्रोल हुईं जहां कई ने उन्हें जलने वाला बता दिया तो कई लोग उन पर ध्यान खींचने का आरोप लगाने लगे।अब इस फिल्म को लेकर लोग किसी भी तरह का तर्क दें, लेकिन फिल्म पर्दे पर जिस तरह धमाल मचा रही है उससे साफ है कि दर्शकों को फिल्म पसंद आ रही है।