September 21, 2021 11:20 pm
featured राजस्थान

बिहार के बक्सर में आया कोरोना वायरस का संदिग्ध मामला, स्वास्थ्य विभाग हुआ अलर्ट

बिहार 1 बिहार के बक्सर में आया कोरोना वायरस का संदिग्ध मामला, स्वास्थ्य विभाग हुआ अलर्ट

पटना। Coronavirus ALERT’ कोरोना वायरस के दिल्ली, आगरा और तेलंगाना में दस्तक देने की आशंका के  साथ ही बिहार में स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। नेपाल से सटे होने के कारण बिहार में कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा खतरा है और इसे सेंसेटिव जोन में रखा गया है। इसे देखते हुए नेपाल बॉार्डर पर विशेष नजर रखी जा रही है और एहतियातन बॉर्डर के इलाकों में स्वास्थ्य शिविर लगाए गए हैं। इसके साथ ही पटना एयरपोर्ट पर भी खास निगरानी रखी जा रही है। 

कोरोना वायरस पर बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा है कि कोरोना को लेकर राज्य सरकार पूरी तरह से सतर्क है। उन्होंने कहा कि 49 सैंपल में से 45 सैंपल्स के रिपोर्ट निगेटिव पाए गए हैं, 3 की रिपोर्ट नहीं आई है, वहीं एक सैंपल रिजेक्ट हो गया है। 

बक्सर जिले में मिला कोरोना का संदिग्ध मरीज मिला है। चौसा प्रखंड के कोचढ़ि गांव का एक युवक चार दिन पहले ईरान से लौटा है, सर्दी-जुकाम के लक्षण पाए जाने के बाद चिकित्सकों के दल ने किया परीक्षण, सुबह ब्लड सैंपल जांच के लिए भेजा गया। युवक को अगले तीन दिनों तक घर से बाहर नहीं निकलने की हिदायत दी गयी है। गांव में दहशत है, गांव आने के बाद युवक जिन जिन जगहों पर गया है, वहां लोग डरे हुए हैं। युवक ईरान में किसी निर्माण कार्य में मजदूर के रूप में काम करता है। 

बिहार में इस वायरस का इतना असर हुआ कि पिछले चार महीनों में विदेशी पर्यटकों की संख्या घटकर आधी रह गई है। बिहार के राजगीर और नालंदा खंडहर समेत कई दर्शनीय स्ल पर जहां विदेशी पर्यटकों की भीड़ जमा रहती थी वहां अब सन्नाटा पसरा हुआ है। बिहार में मंगलवार को केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव और राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव स्तर पर पहली वीडियो कांफ्रेंसिंग में राज्य सरकार को दिल्ली, आगरा और तेलंगाना में कोरोना वायरस के पॉजेटिव केस पाए जाने की जानकारी दी गई।

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव प्रीति सुदान ने राज्य के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार को बताया कि देश में इस मामले की दस्तक के साथ आवश्यक हो गया है कि राज्य और सतर्क हों। जिला स्तर पर कोरोना की मॉनीटरिंग की व्यवस्था की जाए। दूसरी कांफ्रेंसिंग में केंद्रीय कैबिनेट सचिव ने राज्य के मुख्य सचिव को निर्देश दिए कि जिला स्तर पर नियमित रूप से कोरोना मामले की समीक्षा स्वयं मुख्य सचिव करें। यदि कोई ऐसा मामला मिलता है जिसमें कोरोना होने की आशंका हो तो उनकी तत्काल जांच की व्यवस्था की जाए।

उन्होंने इस अभियान में जिलाधिकारियों को भी शामिल करने के निर्देश दिए। वीडियो कांफ्रेंसिंग के बाद स्टेट सर्विलांस अफसर डॉ. रागिनी मिश्रा ने बताया कि कोरोना वायरस की देश में दस्तक को देखते हुए जिलों को आज से ही नियमित निगरानी रखने के निर्देश दे दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि पटना मेडिकल कालेज अस्पताल (पीएमसीएच) में मलेशिया से आए एक व्यक्ति की जांच के लिए सैंपल लिया गया है। अब तक राज्य में बाहर से आए एक लाख से अधिक व्यक्तियों की जांच की गई है।

Related posts

हनीट्रैपिंग कांड: आरोपी बरखा के पति अमित सोनी ने पॉकेटेड प्रोजेक्ट की बात को किया खारिज

Trinath Mishra

पीएम मोदी ने लिया बलूचिस्तान का नाम, पाकिस्तान फिर बौखलाया

bharatkhabar

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढोतरी का सिलसिला जारी, आज फिर तेल की कीमतों में हुई बढोतरी

rituraj