January 24, 2022 3:16 am
धर्म

Surya Grahan 2021: आज लग रहा है साल का अंतिम सूर्य ग्रहण, जानें- ग्रहण के समय क्या करें और क्या न करें

सूर्य ग्रहण

पंचांग के अनुसार 4 दिसंबर 2021 का दिन विशेष है। इस दिन साल का अंतिम सूर्य ग्रहण लग रहा है। आज मार्गशीर्ष मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि है। इस बार वृश्चिक राशि में सूर्य ग्रहण लग रहा है। आइए जानते हैं सूर्य ग्रहण से जुड़ी विशेष बातों का ध्यान रखना चाहिए। ऐसे में हमेशा से ग्रहण के दौरान कई सतर्कता व सावधानी बरतने को कहीं जाती है। वही हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार ग्रहण के पश्चात दान-पुण्य करने से नकारात्मक एवं अशुभ प्रभाव समाप्त हो जाते हैं।

सूर्य ग्रहण लगने का समय
भारतीय समय के अनुसार, यह सूर्य ग्रहण सुबह करीब 10 बजकर 59 मिनट से प्रारंभ होगा और दोपहर 3 बजकर 7 मिनट पर समाप्त होगा। ग्रहण की कुल अवधि 4 घंटे 8 मिनट रहेगी। ज्योतिषविदों के मुताबिक, ये सूर्य ग्रहण वृश्चिक राशि और ज्येष्ठा नक्षत्र में लगने जा रहा है। आइए जानते हैं सभी राशियों के लिए आज का दिन कैसा रहने वाला है।

सूर्य ग्रहण के समय दो ग्रह अस्त रहेंगे
साल का आखिरी सूर्य ग्रहण आज लग रहा है। यह ग्रहण मार्गशीर्ष मास की कृष्ण अमावस्या पर पड़ रहा है। इस बार दो बड़े ग्रह भी अस्त होंगे। इसमें बुध-चंद्रमा शामिल हैं। राहू-केतू भी वक्री होंगे। ये परिवर्तन सभी राशियों पर असर डालेगा। मगर भारत में ग्रहण की सिर्फ उपछाया होने के चलते सूतक मान्य नहीं होगा।

सूर्य ग्रहण में क्या न करें
– फूल और पत्ती तोड़ना वर्जित है।
– गर्भवती महिलाओं को बाहर नहीं आना चाहिए।
– ग्रहण के समय सोना नहीं चाहिए, इससे सोने वाला व्यक्ति रोगी हो जाता है।
– ग्रहण की पूरी समयावधि के दौरान भोजन बनाना या खाना भी वर्जित है।

सूर्य ग्रहण में क्या करें
सूर्य ग्रहण खत्म होने पर शुद्ध जल से स्नान करके ही कोई काम करें।
ग्रहण के काल में ईष्ट देवता का ध्यान और मंत्र का जप जरूरी है।
सूर्य ग्रहण के बाद धातु का दान खासतौर पर पीतल दान पुण्य देता है।
ग्रहण से पहले बने भोजन, रखे पानी को हटाएं ताजा भोजन ही खाएं।
ग्रहण के बाद गाय को घास, पक्षियों को दाना, गरीबों को वस्त्र दान करें।

भारत में नहीं दिखेगा सूर्य ग्रहण
साल का यह आखिरी सूर्य ग्रहण आंशिक सूर्यग्रहण जो केवल दक्षिण अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका और दक्षिण अंटार्कटिका ने आंशिक रूप से देखा जा सकेगा। इस सूर्य ग्रहण को भारत में नहीं देखा जा सकेगा। साथ ही यह सूर्य ग्रहण उपचाया ग्रहण होगा जिसका सूतक काल मान्य नहीं होगा।

सूर्य ग्रहण का किस राशि पर रहेगा सबसे अधिक प्रभाव
वैदिक पंचांग के अनुसार साल 2021 में यह दूसरा सूर्य ग्रहण लग रहा है और साथ ही यह साल का आखिरी सूर्य ग्रहण है। इस दिन अमावस्या है और सूर्य वृश्चिक राशि और अनुराधा नक्षत्र पर रहेगा। जिस कारण इस राशि और नक्षत्र पर ग्रहण का पूरा प्रभाव रहेगा। इस राशि के जातकों को ग्रहण के बाद कुछ दिनों तक सावधान रहने की जरूरत है।

पंचांग के अनुसार ग्रहण के कुछ दिनों तक आपको आर्थिक हानि के प्रबल आसार दिखाई दे रहे हैं। साथ ही आप इस दौरान किसी भी फैसले को जल्दबाजी में ना लें। किसी पर आंख मूंदकर विश्वास ना करें। क्योंकि धोखे मिलने की संभावना भी बन रही है।

Related posts

Photos Gallery: अयोध्या की रामलीला, रावण के किरदार में शहबाज खान ने छोड़ी गहरी छाप

Samar Khan

आज आपके सितारे क्या कहते हैं, पढ़ें राशिफल

Srishti vishwakarma

UP Budget Session: राज्यपाल ने अभिभाषण में किया राम मंदिर का जिक्र, सदस्यों ने थपथपाई मेज

sushil kumar