featured यूपी

सुप्रीम कोर्ट का आठ मई से ग्रीष्म अवकाश शुरू करने का फैसला, नई इमारत में बनेगा कोविड सेंटर

सुप्रीम कोर्ट का आठ मई से ग्रीष्म अवकाश शुरू करने का फैसला, अपनी नई इमारत में कोविड सेंटर बनाने को मंजूरी

लखनऊ। देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेज बढ़ोतरी को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने अपना ग्रीष्मकालीन अवकाश एक हफ्ते पहले ही आठ मई से करने का फैसला किया है। मुख्‍य न्यायाधीश एनवी रमण ने पद संभालने के बाद अपने पहले कार्य दिवस पर एक बैठक ली।

वकीलों के खाली चैंबर में बनेगा कोविड सेंटर

कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए प्रधान न्यायाधीश एनवी रमना ने सुप्रीम कोर्ट की नई इमारत में वकीलों के खाली पड़े चैंबर ब्लाक को अस्थाई तौर पर कोविड केयर सेंटर में तब्दील करने के प्रस्ताव को सोमवार को सैद्धांतिक तौर पर मंजूरी दे दी। इसके साथ ही प्रधान न्यायाधीश ने सुप्रीम कोर्ट की गर्मी की छुट्टियां एक सप्ताह पहले यानी आठ मई से करने पर भी सैद्धांतिक सहमति देते हुए विचार करने की बात कही है।

नई इमारत के तीन हाल पड़े हैं खाली

सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन (एससीबीए) ने रविवार को प्रधान न्यायाधीश को पत्र लिखकर कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट की नई इमारत में खाली पड़े वकीलों के चैंबर ब्लाक को अस्थाई तौर पर कोविड केयर सेंटर या फील्ड अस्पताल में तब्दील करने की इजाजत मांगी थी। नई इमारत में तीन हाल हैं, जो फिलहाल खाली पड़े हैं। एक हाल में 20 बेड तक लग सकते हैं।

तीन हाल में आ सकते हैं 60 बेड

इस तरह तीन हाल में 60 बेड तक आ सकते हैं। वकीलों के चैंबर भी हैं। लेकिन इस बारे में अधिकारियों के साथ बैठक होने के बाद ही परिस्थिति के मुताबिक कैसे क्या होगा, यह तय हो पाएगा। प्रधान न्यायाधीश के साथ बैठक के बाद एससीबीए ने नई दिल्ली के डीएम को पत्र लिखा है, जिसमें टीम भेज कर कोविड केयर सेंटर बनाने के लिए जल्दी से जल्दी सुप्रीम कोर्ट की नई इमारत का मुआयना करने का अनुरोध किया गया है।

14 मई से 30 जून तक हैं गर्मी की छुट्टियां

एससीबीए दिल्ली सरकार के अधिकारियों से इस बारे में बातचीत कर रहा है और इस बाबत एक ब्लूप्रिंट तैयार करके मुख्य न्यायाधीश को भेजा जाएगा। एससीबीए के सचिव अरुधेंदु मौलि कुमार ने यह भी कहा कि प्रधान न्यायाधीश गर्मी की छुट्टियां भी एक सप्ताह पहले यानी आठ मई से करने पर सैद्धांतिक सहमति देते हुए विचार करने को राजी हो गए हैं।

सूत्र बताते हैं कि गर्मी की छुट्टियां जल्द करने का प्रस्ताव पूर्ण पीठ के साथ साझा किया जाएगा और वही इस पर फैसला लेगी। मालूम हो कि अभी सुप्रीम कोर्ट कैलेंडर के मुताबिक गर्मी की छुट्टियां 14 मई से 30 जून तक हैं।

Related posts

अब इंट्रीग्रल में हुई ऑक्सीजन की कमी, राजधानी के अस्पतालों में प्राणवायु का ‘टोटा’

Aditya Mishra

‘संजू’ फिल्म मेकर्स को गैंगस्टर अबु सलेम का नोटिस,15 दिन का दिया समय

rituraj

अयोध्या में बोले सतीश द्विवेदी, 2022 में विपक्ष का हो जाएगा सफाया

Shailendra Singh