गंभीर होता जा रहा रोहिंग्या मुसलमानों को भारत से बाहर खदेड़ने का मुद्दा: सुनील भराला

देहरादून। राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर में केवल असम राज्य में 40 लाख अवैध नागरिकों की पहचान घुसपैठी बांग्लादेशियों के रूप में की गई। इन्हें देश से बाहर निकालने का और साथ ही रोहिंग्या मुसलमानों को भी भारत से बाहर खदेड़ने का मुद्दा अत्यंत गंभीर होता जा रहा है। आज इस विषय को लेकर सुनील भराला पूर्व राष्ट्रीय सह-संयोजक झुग्गी झोपड़ी प्रकोष्ठ ने उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉक्टर दिनेश शर्मा से मिलकर इस मुद्दे को और ज्वलंत कर दिया है।

 

ब्राह्मण समाज के कार्यकर्ताओं को भी मिलेगा भाजपा में सम्मान- पंडित सुनील भराला

बांग्लादेशियों को जल्द ही बाहर खदेड़ने की प्रक्रिया प्रारंभ की जाए

बता दें कि इस मुद्दे पर सुनील भराला ने कहा कि राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर उत्तर प्रदेश राज्य में भी अपडेट किए जाने की आवश्यकता है और उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में खासकर झुग्गी झोपड़ी मलिन बस्ती में अवैध रूप से रह रहे घुसपैठी बांग्लादेशियों को यहां से अतिशीघ्र बाहर खदेड़ने की प्रक्रिया प्रारंभ की जाए। क्योंकि यह अवैध घुसपैठिए झुग्गी झोपड़ी वालों का अधिकार चलते हैं और इससे जनसंख्या बोझ का दबाव और सुरक्षा व्यवस्था को खतरा बना रहता है।

वहीं रोजगार की भी समस्या उत्पन्न होती है इनको बाहर खदेड़ने से इन सभी समस्याओं से बचा जा सकता है। सुनील भराला ने कहा कि माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हर निर्णय में झुग्गी-झोपड़ी प्रकोष्ठ का प्रत्येक कार्यकर्ता कदम से कदम मिलाकर चलेगा और विदेशी घुसपैठियों की पहचान कराने और उन्हें बाहर खदेड़ने में पूरा सहयोग करेगा।