भारत के इस ग्लाइड बम के परीक्षण से दुश्मन थर-थर कांपेंगे, ये है खास बात

भारत के इस ग्लाइड बम के परीक्षण से दुश्मन थर-थर कांपेंगे, ये है खास बात

नई दिल्ली। ओडिशा के चांदीपुर में बीते शुक्रवार को पूर्णरूप से देश में विकसित और कम वजन वाले ग्लाइड बम का सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया। इस बम- स्मार्ट एंटी एयरफील्ड वीपन (एसएएडब्ल्यू), को बीते शुक्रवार को भारतीय वायु सेना के विमान से गिराया गया। रक्षा मंत्रालय ने एक बयान जारी कर बताया कि यह निर्देशित बम विमान के जरिए छोड़ा गया। यह बम सटीक नेविगेशन प्रणाली से निर्देशित हो रहा था। सटीकता के साथ बम 70 किलोमीटर के रेंज से आगे पहुंच गया।

glide bomb
glide bomb

बता दें कि इसमें कहा गया है कि कुल मिलाकर अलग-अलग स्थितियों में तीन परीक्षण हुए और सभी परीक्षण सफल हुए। निर्देशित बम को आरसीआई, डीआरडीओ ने इसके अन्य प्रयोगशालाओं तथा भारतीय वायु सेना के सहयोग से विकसित किया है। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने डीआरडीओ के वैज्ञानिकों तथा वायुसेना को इस सफल परीक्षण के लिए बधाई दी है। रक्षा विभाग के अनुसंधान एवं विकास विभाग के सचिव तथा डीआरडीओ के चेयरमैन एस क्रिस्टोफर ने बम बनाने वाले दल को बधाई देते हुए कहा है कि एसएएडब्ल्यू को जल्दी ही शसस्त्र सेना में शामिल किया जाएगा।