Steve Smith मैंने टीम के कप्तान के रूप में अपनी ज़िम्मेदारी के साथ न्याय नहीं किया- स्टीव स्मिथ

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने कहा है कि वह क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) द्वारा दिये गए एक साल के प्रतिबंध की सजा के खिलाफ अपील नहीं करेंगे। स्मिथ ने ट्वीट कर कहा, “मैं जो कुछ हुआ उसे भुलते हुए एक बार फिर से देश का प्रतिनिधित्व करने के हरसंभव कोशिश और कड़ी मेहनत करूंगा। मैंने टीम के कप्तान के रूप में अपनी ज़िम्मेदारी के साथ न्याय नहीं किया। मैं सीए द्वारा लगाए गए प्रतिबंध को चुनौती नहीं दूंगा। उन्होंने एक मजबूत संदेश देने के लिए मुझे सजा दी है और मैंने उसे स्वीकार कर लिया है।”

 

Steve Smith मैंने टीम के कप्तान के रूप में अपनी ज़िम्मेदारी के साथ न्याय नहीं किया- स्टीव स्मिथ

 

बता दें कि ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स एसोसिएशन (एसीए) ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया से गेंद से छेड़छाड़ मामले में स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर और कैमरन बैनकॉफ्ट पर लगाए गए प्रतिबंधों की समीक्षा करने की मांग की थी, जिसके बाद स्मिथ का यह बयान आया।

 

उल्लेखनीय है कि केपटाउन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट के तीसरे दिन ऑस्ट्रेलियाई ओपनर कैमरन बेनक्रॉफ्ट गेंद से छेड़छाड़ करते हुए पकड़े गए थे। बेनक्रॉफ्ट को मैच के दौरान अपने ट्राउजर से पीले रंग की चीज निकालते देखा गया। इस घटना के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ ने गेंद से छेड़छाड़ की बात मानी है।

UIDAI की 1 जून से नई सेवा शुरू, आधार को बोलें न और वर्चुअल आईडी से खुलवाएं बैंक अकाउंट

Previous article

योगी सरकार का फैसला, निजी स्कूल नहीं कर सकेंगे मनमानी फीस वसूल

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.