September 22, 2021 8:19 pm
featured यूपी

परिवहन निगम के संविदाकर्मियों ने बनाया आंदोलन का मन, पढ़िए आखिर क्‍या है पूरा मामला

परिवहन निगम के संविदाकर्मियों ने बनाया आंदोलन का मन, पढ़िए आखिर क्‍या है पूरा मामला   

लखनऊ: राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष जे एन तिवारी ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी की है। इसमें उन्‍होंने कहा कि, लखनऊ में परिवहन निगम में संविदाकर्मियों के लिए निर्गत विनियमितीकरण नियमावली 2016 का अनुपालन नहीं किया जा रहा है।

परिषद अध्‍यक्ष जे एन तिवारी ने बताया कि, शासन ने 2016 में नियमितीकरण की नियमावली जारी करते हुए 2001 तक नियुक्त संविदाकर्मियों, वर्क चार्ज एवं दैनिक वेतन कर्मचारियों को नियमित करने के निर्देश दिए थे। इस नियमावली के तहत लोक निर्माण, सिंचाई, भूगर्भ जल विभाग सहित अनेक विभागों में कर्मचारियों का नियमितीकरण किया गया, लेकिन परिवहन निगम में आज तक संविदाकर्मी नियमितीकरण की बाट जो रहे हैं।

विभागीय अधिकारियों ने दिया सिर्फ आश्‍वासन

जे एन तिवारी ने परिवहन निगम के संविदाकर्मियों के नियमितीकरण का मुद्दा अपनी वार्ताओं में मुख्यमंत्री एवं मुख्य सचिव के समक्ष उठाया है। विभागीय अधिकारियों ने नियमितीकरण का आश्वासन भी दिया था, लेकिन फिर भी नियमितीकरण नहीं किया गया है। नियमितीकरण नहीं होने से परिवहन निगम के संविदा कर्मचारियों में रोष है और वे आंदोलन का मन भी बना रहे हैं।

निगम में कार्यरत सेंट्रल रीजनल वर्कशॉप कर्मचारी संघ के अध्यक्ष त्रिलोकी व्यास महामंत्री सुरेश यादव एवं संविदा कर्मचारी यूनियन के अध्यक्ष रामराज विश्वकर्मा ने राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष जे एन तिवारी में पूरी आस्था व्यक्त करते हुए संयुक्त परिषद के साथ लड़ाई लड़ने का फैसला किया है।

अक्‍टूबर तक स्थगित हुआ प्रस्‍तावित आंदोलन

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद की मुख्यमंत्री, अपर मुख्य सचिव कार्मिक के साथ हुई वार्ताओं के क्रम में संयुक्त परिषद ने अपने पांच चरणों में प्रस्तावित आंदोलन को अक्टूबर तक स्थगित किया है। अक्टूबर में संयुक्त परिषद की केंद्रीय कार्यकारिणी की बैठक होगी, जिसमें मांगों पर कार्यवाही की समीक्षा की जाएगी। यदि अक्टूबर तक आउटसोर्सिंग, संविदा कर्मियों के नियमितीकरण, 2001 तक नियुक्त वन, परिवहन, लोक निर्माण विभाग के संविदा, दैनिक वेतन, वर्क चार्ज कर्मियों का नियमितीकरण नहीं होता है तो आंदोलन की घोषणा भी हो सकती है।

जे एन तिवारी ने परिवहन निगम के संविदा कर्मियों को अक्टूबर तक आंदोलन न करने की सलाह दी है। उन्होंने बताया कि, परिवहन निगम के संविदा कर्मियों के नियमितीकरण की लड़ाई राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने सेंट्रल रीजनल वर्कशॉप कर्मचारी संघ के अध्यक्ष त्रिलोकी व्यास, महामंत्री सुरेश यादव एवं संविदा कर्मचारी यूनियन के अध्यक्ष रामराज दुबे के साथ मिलकर फैसला किया है।

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष जे एन तिवारी ने परिवहन निगम के संविदा कर्मियों के नियमितीकरण के लिए प्रमुख सचिव परिवहन को पत्र प्रेषित करते हुए तत्काल कार्यवाही करने की मांग भी की है। बताया जा रहा है कि 1000 से भी अधिक संविदा कर्मियों के नियमितीकरण का मामला शासन स्तर पर लंबित चल रहा है।

मांग पूरी न होने पर होगा आंदोलन

जे एन तिवारी ने मुख्य सचिव के स्पष्ट आदेश के बावजूद भी विभिन्न विभागों के अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव, सचिव एवं विभागाध्यक्ष द्वारा कर्मचारियों की मांगों में रुचि नहीं लेने की स्थिति को चिंताजनक बताया है। उन्‍होंने कहा कि, यह स्थिति स्वीकार्य नहीं है। यदि कर्मचारियों की मांग सितंबर तक पूरी नहीं हुई तो राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद एवं उससे संबंध सभी संगठन जिसमें परिवहन निगम के कर्मचारी भी है, आंदोलन करने को बाध्य हो होंगे।

Related posts

योगी आदित्यनाथ के आश्वासान पर शिक्षा मित्रों ने स्थगित किया आंदोलन

Srishti vishwakarma

मेरठ पुलिस को इस साल पुराने मामले में मिली बड़ी कामयाबी, बीकॉम की छात्रा को प्रेमजाल में फंसाने वाला शाकिब गिरफ्तार

Rani Naqvi

मथुरा जेल से तीन अपराधी भाग जाने की वजह से चार अधिकारी सस्पेंड

Rani Naqvi