kiran rijau कोरोना का कहर: अब खेल मंत्री किरण रिजिजू हुए संक्रमित

कोरोना की दूसरी लहर एक के बाद एक कहर बरपा रही है। इस बार कोरोना ने केंद्र सरकार के खेल मंत्री किरण रिजिजू को अपनी चपेट में लिया है। मंत्री कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं।

खेल मंत्री ने संपर्क में आए लोगों से कोरोना टेस्ट कराने की अपील की है। उन्होंने कहा कि हाल फिलहाल में मेरे संपर्क में आए सभी लोग अपना कोरोना जांच करवा लें। बता दें कि किरण रिजिजू असम चुनाव के दौरान कई रैलियां और चुनावी कार्यक्रमों को संबोधित किया था।

पूरी दुनिया में इस समय कोरोना वायरस के संक्रमण की रफ्तार काफी तेज है। पिछले साल जब इस महामारी की शुरुआत हुई थी तो ये आशंका जताई गई थी कि इसके वायरस सतह के जरिए फैलते हैं और लोगों को संक्रमित करते हैं। इसके बाद लोग अपने घरों और कारों के दरवाजों तक को छूने से बचने लगे।

इसी आधार पर कोरोना से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क और हाथों की सफाई के उपाय किए जा रहे थे। हालांकि अब अमेरिकी विशेषज्ञों ने दावा किया है कि उन्हें अभी तक कोई भी ऐसा सबूत नहीं मिला है जिसमें सतह को छूने से किसी को कोरोना हुआ हो।

मेडिकल जनरल स्टडीज का दावा

इस बीच एक नामी मेडिकल जनरल स्टडीज सामने आई है। जिसमें कहा गया है कि इस बात के पक्के सबूत है, कि कोरोना वायरस हवा से ज्यादातर फैल रहा है। यानी एक दूसरे की सांसों से निकली महीन बूंदों से ही वायरस फैल रहा है ऐसा नहीं है। स्टडी में कोरोना वायरस के हवा से फैलने के पीछे ये बातें कहीं गई है-

1- इंवेट से फैला कोरोना

पहली दलील ये दी गई है कि कोरोना की बेतहाशा बढ़ने के पीछे बड़े इवेंट हैं। इवेंट में एयरोसोल की वजह से ही संक्रमण फैला।

2- होटल से फैला संक्रमण

दूसरा दलील है कि क्वारंटीन वाले होटल में देखा गया कि आसपास के कमरों में रुके लोगों में संक्रमण फैला है।

3- बिना लक्षण वालों से ट्रांसमिशन

तीसरी बात कही गई है कि बिना लक्षण वाले संक्रमित लोग जो खांस या छींक नहीं रहे हैं उनसे भी कुछ हद तक संक्रमण फैला है।

4- इनडोर में ज्यादा फैला वायरस

चौथी बात कही गई कि कोविड-19 का संक्रमण चार दीवारी के अंदर ज्यादा देखा गया बजाए खुली जगह के।

5- अस्पताल से फैला वायरस

पांचवी बात कही गई कि अस्पतालों में इलाज के दौरान संक्रमण हो जाने के मामले देखे गए हैं जबकि अस्पतालों में सभी मास्क पहनते हैं।

6- हवा में वायरस एक्टिव

छठी दलील है कि हवा में भी कोरोना खुद को जिंदा रख सकता है, लैब में हुए प्रयोग बताते हैं कि वायरस हवा में 3 घंटे एक्टिव रहता है।

7- एयर फिल्टर में वायरस मिला

सातवीं दलील दी गई है कि कोविड अस्पताल के एयर डक्ट या एयर फिल्टर में भी वायरस मिला है। ऐसी जगहों पर वायरस तभी पहुंच सकता है जब वायरस हवा में हो।

8- जानवरों से फैला वायरस

आठवीं बात कही गई कि जानवरों के जरिए भी एक दूसरे में संक्रमण फैला

9- हवा से नहीं फैलता इसके सबूत नहीं

9वीं और 10वीं दलील है कि वायरस हवा से नहीं फैलता इसकी पुष्टि नहीं है। ना ही सांस से संक्रमण फैलने के ज्यादा सबूत हैं।

शनि, राहु-केतु से हैं परेशान, तो जानिए उसके प्रभाव और बचने के उपाय

Previous article

अब इन नंबरों पर भी फोन कर मदद ले सकते हैं कोरोना पीड़ित

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured