September 16, 2021 9:53 pm
featured धर्म

हरियाली तीज पर कीजिए श्री बांके बिहारी जी के विशेष दर्शन..

banke 7 हरियाली तीज पर कीजिए श्री बांके बिहारी जी के विशेष दर्शन..

आज देश के कई हिस्सों में हरियाली तीज की धूम है। हरियाली तीज को सौन्दर्य और प्रेम का त्योहार माना जाता है इस दिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र की कामना करती है। घर की सुख संमृद्धि के लिए महिलाएं हरियाली तीज का व्रत करती हैं। कहते हैं इस व्रत को करने से सौभाग्य की प्राप्ति होती है। भगवान शिव और माता पार्वती के पुनर्मिलन के रुप में हरियाली तीज मनाई जाती है। श्रावण मास की शुक्ल पक्ष की तृतिया को हरियाली तीज मनाई जाती है इस बार 23 जुलाई यानि की आज को हरियाली तीज मनाई जा रही हैं।पंचांग के अनुसार, इसे सावन महीने के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को धूमधाम के साथ मनाया जाता है।

banke 5 हरियाली तीज पर कीजिए श्री बांके बिहारी जी के विशेष दर्शन..
हरियाली तीज पर भगवान श्री कृष्ण की नगरी मथुरा में भी खास धूम देखने को मिली। हालाकि कोरोना के चलते मथुरा के सभी बड़े मंदिर बंद है। लेकिन भगवान श्री कृष्ण की पूजा हमेशा की ही तरह हर रोज होती है। मंदिर के सेवक ठाकुर जी के पूजा पाठ में निरंतर लगे रहते हैं। आज तीज महोत्सव के दिन बांके बिहारी मंदिर में भगवान कृष्ण का खास श्रंगार किया गया। और उनके पहले दर्शन किये गये। जिसकी तस्वीरें आप हमारी साइट पर देख रहे हैं। ये तस्वीरें आज सुबह की हैं। बांके बिहारी मंदिर और निधि वन में हरियाली तीज के पर्व पर ठाकुर जी की विशेष पूजा होती है और उनका विशेष श्रृंगार किया जाता है। ठाकुर जी के दर्शन के बाद 12 बजे पंडित जनों के द्वारा विशेष पूजा की जाएगा।

banke 4 हरियाली तीज पर कीजिए श्री बांके बिहारी जी के विशेष दर्शन..
आपको बता दें,हरियाली तीज को ब्रज के मन्दिरों में झूलनोत्सव के रूप में मनाया जाता है। श्री बाँके बिहारी जी महाराज के मन्दिर में यह उत्सव वर्ष में केवल एक बार मनाया जाता है। हरियाली तीज की संध्या को बिहारीजी भव्य स्वर्ण रजत हिंडोले में विराजमान होते हैं। इस दिन बाँके बिहारी जी को हरी पोशाक व मनमोहक श्रंगार धारण कराया जाता है। जिसमें बिहारी जी का सौंदर्य मन को मोहने लगता है और अपनी ओर आकर्षित करता है।

banke 1 2 हरियाली तीज पर कीजिए श्री बांके बिहारी जी के विशेष दर्शन..
श्री बाँके बिहारी जी महाराज के इस स्वर्ण रजत जड़ित हिंडोले का निर्माण बनारस के कारीगरों द्वारा किया गया। इसमें स्वर्ण एवं रजत मन्दिर प्रशासन, गोस्वामी समाज एवं भक्त परिकर ने एकत्र किया था। इस हिंडोले की कलात्मक बहुत ही बारीक एवं भक्तों को मोहित करने वाली है। सभी भक्त इस हिंडोले में विराजमान श्रीबिहारी जी के दर्शन पाकर अपने को धन्य महसूस करते हैं।

इसी दिन बिहारी जी का दर्शन सबसे देर तक होता है, सांय 4 बजे से अर्धरात्रि में12 बजे तक तथा इसके बाद शयन आरती के पश्चात् बिहारी जी सोने चले जाते हैं। बिहारी जी इस दिन सुख सेज पर आते हैं, पुजारी जी बताते हैं की जब माधव भक्तो को दर्शन देकर थक जाते हैं तब वे सुख सेज पर विश्राम करते हैं। जहाँ पर फूलों से सज्ज शय्या पर पान, रजत कलश में जल, रजत कंघी, आइने एवं लड्डू आदि रखे जाते हैं।
लेकिन इस बार भक्त मथुरा में इस पावन पर्व का लुत्फ नहीं उठा पाएंगे। लेकिन मंदिर के सेवादारों के द्वारा ये सभी धार्मिक प्रक्रिया पूरी की जाएंगी।

banke 9 हरियाली तीज पर कीजिए श्री बांके बिहारी जी के विशेष दर्शन..
इसी तरह धार्मिक नगरी वृन्दावन में निधिवन में भी भगवान श्री कृष्ण का खास श्रृंगार किया गया है। जिसके बाद उनके दर्शन की तस्वीरें भक्तों तक पहुंच गई हैं। कोरोना के चलते इस बार निधि वन में बिना भक्तों के ही हरियाली जीत महोत्सव मनाया जा रहा है।
आपको बता दें, वृन्दावन में निधिवन एक अत्यन्त पवित्र, रहस्यमयी धार्मिक स्थान है। मान्यता है कि निधिवन में भगवान श्रीकृष्ण एवं श्रीराधा आज भी अर्द्धरात्रि के बाद रास रचाते हैं। रास के बाद निधिवन परिसर में स्थापित रंग महल में शयन करते हैं। रंग महल में आज भी प्रसाद माखन मिश्री प्रतिदिन रखा जाता है।

https://www.bharatkhabar.com/bravery-of-a-mother-imprisoned-in-cctv/
लॉकडाउन की वजह से इस बार भक्त भगवान श्री कृष्ण के दर्शन रूबरू नहीं कर पाएंगे। लेकिन इस दौरान ठाकुर जी की पूजा अर्चना हर साल की तरह ही की जाएगी।

Related posts

ब्रिटेन में गांधी जी के चश्में की नीलामी, कीमत जानकर आपके होश उड़ जाएंगे..

Rozy Ali

अटल बिहारी वाजपेयी की 96वीं जयंती पर पीएम मोदी ने की श्रद्धांजलि अर्पित, एक स्मृति खंड नामक पुस्तक का विमोचन होगा

Aman Sharma

श्रीकांत शर्मा का ऐलान, यूपी के 4 धार्मिक शहरों को मिलेगी 24 घंटे बिजली

kumari ashu