यूपी

सपा विधायक के भांजे को मिली रंगदारी की धमकी, पुलिस जांच में जुटी

sp mla, extortion phone call, police, crime, crime news

सरकार बदलते ही नई सरकार के मुखिया मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुंडा और बदमाशों के खिलाफ मुहीम छेड़ कर यूपी से क्राइम खत्म करने का ऐलान किया था। योगी सरकार के तमाम कोशिशों के बाद भी सूबे में अपराध कम नहीं हो रहा है। सरकार बनने के बाद से आज तक हो रही सरकार की जगह जगह फजीहत व बढ़ते अपराध ने कानून व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी है। ताजा मामला उतरौला से सामने आया है। जहां पूर्व सपा विधायक आरिफ अनवर हाशमी के भांजे नोमान हाशमी से माफिया डॉन रवि पुजारी ने फोन पर धमकी देकर 10 लाख रंगदारी की मांग की है।

sp mla, extortion phone call,  police, crime, crime news
crime

धमकी के साथ-साथ रंगदारी की मांग के कारण नोमान का पूरा परिवार भयभीत व पूरी तरह से डरा सहमा हुआ है। कथित रवी पुजारी द्वारा दिया गया दो दिन का अल्टीमेटम भी शुक्रवार को पूरा हो रहा है। लेकिन तीन दिन बाद भी पुलिस के हाथ खली हैं। जिसके कारण पीड़ित परिवार का बुरा हाल है। जनपद बलरामपुर के थाना सादुल्ला नगर के अहिरौली के भट्ठा मालिक व विजनेस मैन नोमान हाशमी को माफिया डॉन रवि पुजारी के धमकी भरे फोन के बाद नोमान हाशमी का बुरा हाल है।

उन्होंने बताया कि प्रशासन ने अब तक कोई सुरक्षा उन्हें मुहैया नहीं कराई है जिसके कारण उनका परिवार डरा हुआ है। उन्होंने बताया है कि वह घर से बाहर भी नहीं निकल पा रहे हैं। पुलिस ने नोमान की सुरक्षा के लिए कोई व्यवस्था नहीं की है। तीन दिन बाद अभी तक पुलिस के हाथ खली हैं। जिसके कारण पीड़ित परिवार की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। सोचने वाली बात तो यह है कि सरकार नागरिक सुरक्षा के बड़े-बड़े दावे कर रही है लेकिन फिर भी सूबे में माफिया के हौसले बुलंद हैं।

आपको बता दें की सपा के पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाशमी के भांजे नोमान हाशमी को माफिया डॉन रवी पुजारी ने पहले 25 जुलाई को 10 लाख तथा 7अगस्त को 5 लाख रंगदारी की मांग की और रूपए न देने पर जान से मारने की धमकी दी है। इस पूरे मामले पर जब पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार से बात की गई तो उन्होंने बताया कि पूरे मामले को गंभीरता से जांच की जा रही है। फिलहाल पुलिस इस मामले की आगे की जांच में लग गई है।

Related posts

प्रवासी मजदूरों को लेकर प्रियंका गांधी और सपा ने योगी सरकार को घेरा, लगाए ये गंभीर आरोप

Aditya Mishra

यूपी बजट: पंचायत चुनाव से पहले सरकार ने देहात के लिए्र खोला खजाना

Pradeep Tiwari

तेलंगाना सरकार ने यूपी के आलू पर लगाई रोक, जानिए इस कदम के पीछे क्या है राजनीतिक मंशा

Neetu Rajbhar