featured Breaking News यूपी

सपा प्रमुख ने ओवैसी को बताया एहसानफरामोश

MULAYM सपा प्रमुख ने ओवैसी को बताया एहसानफरामोश

लखनऊ। सपा के मुखिया मुलायम सिंह यादव अपनी पार्टी की आंतरिक कलह का निपटारा करने के बाद एक बार फिर से आगामी विधानसभा चुनाव के लिए रणनीति बनाते नजर आए। अपने वोट बैंक को मजबूत करने के लिए जहां सपा प्रमुख ने एआइएमआइएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी का नाम लिये बगैर उन्हें अहसान फरामोश ठहराया तो चीन, सीमा सुरक्षा, कश्मीर पर केंद्र सरकार को कठघरे में खड़ा किया लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर उनके तेवर नरम दिखे।

MULAYM

बता दें कि डॉ. लोहिया लॉ विश्वविद्यालय की स्थापना के 10वें साल पर आयोजित समारोह में एक घंटा 22 मिनट के लंबे भाषण में मुलायम ने बोफोर्स तोप की उपयोगिता व तिब्बत के मुद्दे पर अटल बिहारी वाजपेयी सरकार को निशाने पर रखा। तो वही इंदिरा गांधी और कांग्रेस के अन्य प्रधानमंत्रियों पर निशाना साधा और चीनी घुसपैठ पर फिक्र जाहिर की। मुलायम बुधवार को सरकार के विकासकार्यों का बखान करते नजर आए और लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे के निर्माण को सराहा।

मुलायम ने ओवैसी पर साधा निशाना:-

– मुलायम ने कहा कि जब वह रक्षा मंत्री थे, उस समय हैदराबाद के सांसद (एआइएमआइएम के संस्थापक सुल्तान सलाहुद्दीन ओवैसी) ने मेडिकल कालेज खोलने के लिए रक्षा विभाग का अनापत्ति प्रमाणपत्र और जमीन मांगी,अधिकारी तैयार नहीं थे।

– मुसलमानों को अच्छी तालीम मिल सके, इसी मंशा से प्रधानमंत्री से बात कर मैंने उन्हें जमीन दिलायी।

– अब उन्हीं का सांसद बेटा उत्तर प्रदेश आता है तो मुस्लिम वोटों के लिए मुझे ही गाली देता है।

– पिता अच्छे इंसान थे, बेटा गड़बड़ कर रहा तो क्या कर सकते हैं?

कश्मीर पर बैठक पर:-

कश्मीर के मुद्दे पर केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मुझे फोन किया था, जिस पर सर्वदलीय बैठक बुलाने का सुझाव दिया था। इस पर प्रधानमंत्री ने अमल भी किया।

बंद कराई बोफोर्स फाइल:-

– बोफोर्स तोप का जिक्र करते हुए मुलायम ने कहा कि सब जानते हैं यह तोप अच्छा काम कर रही है।

– रक्षामंत्री रहते हुए इसकी फाइल बंद करा दी थी।

– इसके साथ ही सपा मुखिया ने कहा कि लोग एमएलए, मंत्री को रात में दो बजे फोन कर लेते हैं मगर किसी आइएएस अधिकारी को कोई फोन करके देखे।

चीन से है ज्यादा खतरा:-

मुलायम सिंह यादव ने कहा पाकिस्तान से नहीं ज्यादा खतरा चीन से है, पाकिस्तान एक मिसाइल दागे तो तीन दाग दो तो उसका नामोनिशान खत्म हो जाएगा, मगर चीन धीरे-धीरे घुस रहा है। जब प्रधानमंत्री चीन के मुखिया से हाथ मिला रहे थे, तब उनकी सेना घुसपैठ करती जा रही थी।

मायावती ने ठप्प किया विकास कार्य:- 

नेता जी ने मायावती को निगेटिव सोच वाली नेता की संज्ञा देते हुए कहा कि सत्ता में आते ही विकास कार्य ठप कर दिया। सड़कों की मरम्मत रुक गई। शिक्षा में कोई काम नहीं हुआ।

अटल इस्तीफे को तैयार थे:-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेरी तारीफ कर दी तो हमारे दल के ही कुछ नेता नाराज हो गए जबकि यह शिष्टाचार है। गुजरात में दंगा हुआ तो लोकसभा में सबसे ज्यादा यह मुद्दा हमने उठाया, बहस करायी। आलोचना की थी। प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने प्रमोद महाजन को भेजकर बात की। अटलजी तो इस्तीफा देने को तैयार थे, मगर लालकृष्ण आडवाणी ने उन्हें रोक लिया।

Related posts

विक्की कौशल और धर्मा प्रोडक्शंस  की पहली होरर फ़िल्म है – भूत पार्ट वन – द होंटेड शिप

Rani Naqvi

संसद ने ओबामा का वीटो किया खारिज, 9/11 के पीड़ित कर सकेंगे मुकदमा

shipra saxena

आज से शुरू होली स्पेशल बसें

sushil kumar