lalu yadav लालू प्रसाद यादव के जन्मदिन पर बेटे तेजस्वी यादव ने लिखा इमोशनल पत्र, कहा-हम थकेंगे नहीं रूकेंगे नहीं

बिहार में लालू प्रसाद यादव के जन्मदिन पर बधाईयों का सिलसिला लगातार जारी है। हर कोई लालू यादव को उनके जन्मदिन पर बधाई और अच्छे स्वास्थ्य की दुआएं दे रहा है।

पटना। बिहार में लालू प्रसाद यादव के जन्मदिन पर बधाईयों का सिलसिला लगातार जारी है। हर कोई लालू यादव को उनके जन्मदिन पर बधाई और अच्छे स्वास्थ्य की दुआएं दे रहा है। बिहार से लेकर झारखंड तक लोग लालू यादव को जन्मदिन का बधाई दे रहे हैं। इस मौके पर लालू प्रसाद के छोटे बेटे और बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव अपने पिता से मिलने पहुंचे और उन्होंने पिता से मिलकर बिहारवासियों के लिए एक इमोशनल पत्र लिखा। इस पत्र में उन्होंने सबसे पहले अपने पिता को जन्मदिन की बधाई दी। साथ ही बिहारवासियों के लिए एक अपील भी की है।

बता दें कि इस पत्र के साथ तेजस्वी यादव ने अपने पिता के साथ एक तस्वीर भी साझा की है। इससे पहले राबड़ी देवी और तेजप्रताप ने भी लालू यादव को जन्मदिन की बधाई दी है।

tejaswi yadav लालू प्रसाद यादव के जन्मदिन पर बेटे तेजस्वी यादव ने लिखा इमोशनल पत्र, कहा-हम थकेंगे नहीं रूकेंगे नहीं

तेजस्वी यादव ने पत्र में लिखा कि मैं इस खास अवसर पर मैं रांची आया हूं। मैने यहां पिता जी से मुलाकात की और उनको जन्मदिन की बधाई दी। पिता जी के जन्मदिन पर अलग-अलग भाव मन में जन्म ले रहे है कि वो हमसे दीर अकेले संघर्ष कर रहे हैं। वहीं इसके साथ सशक्त भी हूं क्योंकि उनका जन्मदिन मुझे मजबूती देता है। उनकी तरह ही मुखरता से गरीब-गुरबों, शोषित, पीड़ित, उपेक्षित और वंचितों की लड़ाई बिना सिद्धांतों से समझौता किए लड़ूं।

https://www.bharatkhabar.com/pm-modi-addresses-special-program-of-icc/

अपने पिता के जीवन की यात्रा पर जब भी नज़र डालता हूं तो ऐसा लगता है कि क्या अद्भुत और बिरला जज्बा लिए हैं। आदरणीय लालू जी, ऊंच-नीच के विरुद्ध लड़ाई लड़े, बिहार की तमाम सामाजिक विसंगतियों को ख़त्म किया। गरीब के हक़ का झंडा बुलंद किया और चाहे कितनी भी विषम परिस्थिति आई, कभी घुटने नहीं टेके, कभी अपने सिद्धांतों से समझौता नहीं किया।


वहीं विषम हालात अच्छे-अच्छों को तोड़ देते हैं। षडयंत्र व समर्पण करने को मजबूर कर देता है। वर्षों का दुष्प्रचार इंसान का आत्मविश्वास छीन लेता है, लेकिन ये भी अनुकरणीय है कि विषम हालात, अनगिनत षडयंत्र और लगातार दुष्प्रचार भी लालू जी के हौसले को तोड़ नहीं पाए, उनके सिद्धांतों को झुका नहीं पाए, जनसेवा के लिए समर्पित उनके क़दमों को रोक नहीं पाए अपितु उनके हौसलों को मजबूत ही किया।

साथ ही वो लड़ रहे हैं आज भी, बिना थके, बिना झुके…और मुझे गर्व है कि बिहार के लोगों के हक़ के लिए उनकी इस लड़ाई में मैं भी भागी बना हूं, इसलिए आज उनके जन्मदिन पर मैं यह प्रण लेता हूं कि बिहार के युवाओं और गरीबों को हर हालत में न्याय दिला कर रहूंगा। बस…बहुत हो चुका जातिवाद, सम्प्रदायवाद, बहुत हो चुकी बीमारी के दौरान फैली अव्यवस्था से मौतें, बहुत देख ली गरीब ने रोटी की भूख, बहुत रह लिया हमारा युवा बेरोजगार, बहुत सह लिया हमारे भाइयों और उनके परिवारों ने पलायन का दर्द, कुशासन ने छीन ली बहुत जानें। सड़कों पर बहुत बेहाल हो चुका बिहारी…सरकार ने 15 साल राज करते-करते बहुत ठीकरा फोड़ लिया दूसरों पर…अब और नहीं होने दूंगा। भुखमरी से, अपराध से, अव्यवस्था से, अन्याय से अब जान नहीं खोने दूंगा।

आज पिता जी के 73वें जन्मदिन पर हम कम से कम 73000 गरीबों को खाना खिलाएंगे, उनके माथे से चिंता हटाएंगे और फिर पिता की प्रेरणा से ही बिहार को इस कठिन समय से निजात दिलाएंगे।

लालू जी की प्रेरणा से जो कदम बिहार की सेवा के लिए चल पड़े हैं वो कदम रुकेंगे नहीं, कभी थकेंगे नहीं!

आपका बेटा, आपका भाई
तेजस्वी यादव

Rani Naqvi
Rani Naqvi is a Journalist and Working with www.bharatkhabar.com, She is dedicated to Digital Media and working for real journalism.

    पीएम मोदी ने किया ICC के विशेष कार्यक्रम को संबोधित, कहा- दूसरे देशों पर अपनी निर्भरता कम करनी होगी

    Previous article

    यूपी में 10-20 नहीं बल्कि 5,000 अनामिकाएं आ सकती है सामने, 6 को भेजा गया रिकवरी नोटिस

    Next article

    You may also like

    Comments

    Comments are closed.

    More in featured