सीमा 2 कोरोना से बचाव के लिए 1000 गांवों में विशेष अभियान चलाएगा सीमा
  • स्मॉल इंडस्ट्री मैन्युफैक्चर एसोसिएशन (सीमा) के अध्यक्ष शैलेंद्र श्रीवास्तव का एलान
  • कल यानी 18 मई से चलाया जाएगा अभियान
  • गांवों में लगाएंगे स्वास्थ्य शिविर भी लगवाने की है तैयारी
  • पार्कों को गोद लेकर आरोग्य वाटिका के रूप में करेंगे विकसित

लखनऊ।  कोरोना की दूसरी लहर ने गांवों को प्रचंड रूप से अपनी चपेट में ले लिया है। हर गांव में प्रत्येक घर में किसी न किसी को कोरोना के लक्षण दिखाई दे रहे हैं। गांवों में जांच और इलाज की समुचित व्यवस्था न होने से कोरोना संक्रमण का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। इसके साथ ही गांवों में जागरूकता की कमी भी देखने को मिल रही है। जिसके कारण खतरा दोगुना हो रहा है। इसको देखते हुए स्मॉल इंडस्ट्री मैन्युफैक्चर एसोसिएशन (सीमा) ने गांवों में जागरूकता अभियान चलाने का निर्णय लिया है।

शैलेंद्र श्रीवास्तव ण्ण् कोरोना से बचाव के लिए 1000 गांवों में विशेष अभियान चलाएगा सीमा

शैलेंद्र श्रीवास्तव, अध्यक्ष, स्मॉल इंडस्ट्री मैन्युफैक्चर एसोसिशन

सीमा के अध्यक्ष शैलेंद्र श्रीवास्तव ने सोमवार को बताया कि गांवों में जागरूकता की कमी को देखते हुए उनका संगठन अभियान चलाने जा रहा है। संगठन के संरक्षक आलोक रंजन के मार्गदर्शन और निर्देश पर हमने निर्णय लिया है कि पहले चरण में एक हजार गांवों में यह अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने बताया कि मंगलवार यानी 18 मई से हम इस अभियान की शुरूआत लखनऊ के सरोजनीनगर इंडस्ट्रियल एरिया के आसपास के गांवों से करेंगे।

आलोक रंजन कोरोना से बचाव के लिए 1000 गांवों में विशेष अभियान चलाएगा सीमा

आलोक रंजन, संरक्षक, स्मॉल इंडस्ट्री मैन्युफैक्चर एसोसिशन

शैलेंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि उनके इस अभियान में कई संगठनों और उद्यमियों का पूरा साथ मिल रहा है। हर गांव में हम एक वालंटियर तैयार करेंगे। उसको सीमा की ओर से एक किट दी जाएगी। जिसके पास ऑक्सीमीटर, थर्मामीटर और कुछ दवाएं होंगी। साथ वालंटियर को मास्क और सैनिटाइजर भी देंगे। उन्होंने बताया कि ये वालंटियर गांव के सभी नागरिकों की नियमित जांच करेंगे। साथ ही कोरोना की गाइडलाइन का पालन करने को प्रेरित भी करेंगे। साथ ही अगर किसी को लक्षण हैं तो उसकी तुरंत जांच कराने में सहयोग भी करेंगे।

शैलेंद्र श्रीवास्तव ने आगे बताया कि गांवों में हम सैनिटाइजेशन का काम भी करवाएंगे। ताकि संक्रमण की किसी भी संभावना को रोका जा सके। उन्होंने बताया कि हम इंडस्ट्रियल एरिया में सैनिटाइजेशन करवा भी रहे हैं। अब गांवों में भी यह अभियान चलाया जाएगा।

पंचायती राज विभाग कर रहा सहयोग

उन्होंने बताया कि इस अभियान की शुरूआज सरोजनीनगर ब्लॉक से की जाएगी। जिसमें सरोजनीनगर इंडस्ट्रियल एरिया के आसपास के 10 गांवों में अभियान चलाया जाएगा। इसमें पंचायती राज विभाग का बड़ा सहयोग मिल रहा है। वालंटियर देने के साथ सैनिटाइजिंग के लिए टैंकर भी देगा। सैनिटाइजेशन में प्रयोग होने वाले लिक्विड को सीमा देगा।

लखनऊ से शुरू होकर प्रदेश के दूसरे जिलों में भी अभियान चलेगा

शैलेंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि कोरोना को रोकने के लिए सीमा के सभी पदाधिकारी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। इस अभियान की शुरूआत हम लखनऊ के ग्रामीण इलाकों से कर रहे हैं। इसको पूरे प्रदेश में चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी जिलों में वालंटियर तैयार कर हम जागरूकता, स्वास्थ्य शिविर का कैंप लगाने के साथ-साथ सैनिटाइजेशन भी करेंगे।

पार्क को गोद लेकर बनाएंगे आरोग्य वाटिका

सीमा के अध्यक्ष ने बताया कि इंडस्ट्रियल एरिया को हमने मॉडर्न बनाने का प्रस्ताव दिया है। अभी फिलहाल यहां पर स्थित पार्क को सीमा गोद ले रहा है। जिसे आरोग्य वाटिका के रूप में विकसित किया जाएगा। इसमें औषधियों वाले पौधे लगाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इस अभियान में उद्यमिता विकास संस्थान, यूपीसीडा ने भी मदद का आश्वासन दिया है।

सहारनपुर में सीएम योगी, कोविड सेंटर में अधिकारियों को दे दी ये जिम्‍मेदारी

Previous article

जनता की कोरोना से सुरक्षा हमारी प्राथमिकता : ललन कुमार

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.