featured बिज़नेस

लॉकडाउन के साइड इफेक्ट, डिमांड घटने से प्रोडक्शन हुआ कम

cbse, release, guideline, children, smartphone, school

कोरोना महामारी की दूसरी लहर का असर अब इलेक्ट्रोनिक्स के बाजार में भी देखने को मिल रहा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक लॉकडाउन और पाबंदियों के चलते मैन्यूफैक्चरिंग और प्रोडक्शन की रफ्तार धीमी हुई है।

डिमांड का पड़ा असर

इलेक्ट्रॉनिक्स और स्मार्टफोन ब्रांड्स ने घरेलू मार्केट के लिए अपना प्रोडक्शन बंद कर दिया है, वजह है लॉकडाउन में घटती हुई डिमांड। बताया जा रहा है कि इन इलेक्ट्रॉनिक्स गुड्स की बिक्री बिल्कुल कम हो गई या फिर कहीं-कहीं बंद ही हो गई है। लॉकडाउन की वजह से स्टोर बंद हैं और ऑनलाइन स्टोर पर खरीदे जाने वाले सामानों की डिलीवरी नहीं हो पा रही है। लिहाजा कई कंपनियों ने अब अपना प्रोडक्शन बंद करना शुरू किया है।

स्मार्टफोन कंपनियों का प्रोडक्शन बंद

जानकारी के मुताबिक एलजी, पैनासोनिक, कैरियर मीडिया, वीवो, ओप्पो, हायर और गोदरेज अप्लायसंज ने अपने कई प्लांट पूरी तरह से बंद कर दिए हैं। कई प्लांट में प्रोडक्शन नें भारी कटौती की गई है। एपल और सैमसंग ने भी प्रोडक्शन को घटाकर 25 से 40 फीसदी कर दिया है। बताया जा रहा है कि सैमसंग अपने प्लांट को 4 दिन ही खोलता है। कम कर्मचारियों के साथ कंपनी काम चला रही है।

कर्मचारियों की बढ़ी चिंता

जानकारों के अनुसार लॉकडाउन और पाबंदियों की वजह से 15 फीसदी बाजार ही खुला है। लेकिन स्टोर खुलने का समय निर्धारित कर देने की वजह से 5 से 6 फीसदी ही बिक्री हो पा रही है। यही वजह है कि मांग घटने और बिक्री न होने के इस माहौल में कर्मचारियों की जान जोखिम में डाल कर प्रोडक्शन जारी रखने का कोई तुक नहीं बनता। इसकी वजह से कर्मचारी भी अब बेहद परेशान हैं।

Related posts

पूर्वोत्तर में भाजपा की जीत पर बोली राजे बीजेपी देश में आखिरी विकल्प

Vijay Shrer

दिल्ली के पूर्ण राज्य की मांग को लेकर आम आदमी पार्टी शुरू करेगी राजनीतिक अभियान

Ankit Tripathi

The Kashmir Files: उत्तर प्रदेश में टैक्स फ्री हुई फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’, ये राज्य भी कर चुके हैं एलान

Rahul