January 17, 2022 8:10 pm
featured मध्यप्रदेश

किसान की पिटाई पर शिवराज सरकार ने लिया सख़्त फैसला, कमलनाथ ने घेरा

bhopal 1 किसान की पिटाई पर शिवराज सरकार ने लिया सख़्त फैसला, कमलनाथ ने घेरा

मध्यप्रदेश में पुलिस ने किसानों को लाठी डंडों से पीटा दरअसल पुलिस अतिक्रमण को हटाने गई थी। पुलसि द्वारा पिटाई किए जाने के बाद एक दंपत्ति ने कीटनाशक पी कर आत्महत्या

भोपाल। मध्यप्रदेश में पुलिस ने किसानों को लाठी डंडों से पीटा दरअसल पुलिस अतिक्रमण को हटाने गई थी। पुलसि द्वारा पिटाई किए जाने के बाद एक दंपत्ति ने कीटनाशक पी कर आत्महत्या करने की कोशिश की। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया जिसका बाद राज्य के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने गुना के कलेक्टर और एसपी को तुरंत बर्खास्त करने का निर्देश जारी कर दिया। इसके अलावा सीएम ने घटना स्थल की जांच के भी निर्देश दिए हैं।

बता दें कि सूबे के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने वीडियो जारी कर कहा किजब से इस घटाना का वीडियों देखा है बहुत दुखी हूं। राज्य मेंएस तरह की घटनाएं नहीं होनी चाहिए। इन घटनाओं से बचना चाहिए। मुख्यमंत्री ने जल्दी घटनास्थल की जांच के आदेश जारी किए हैं। एक जांच दल मौके पर पहुंचकर पूरी घटना की जांच करेगा। इसके  बाद जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई होगी।

 

वहीं इस घटना पर कांग्रेस के नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ ने शिवराज चौहान को घेरा और कहा कि क्या ऐसी ही हिम्मत मध्यप्रदेश की पुलिस और शिवराज सिंह सरकार हजारों एकड़ शासकीय जमीन को छुड़वाने के लिए करेगी जो घटना गुना में हुई उसको बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इस घटना के आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए नहीं तो कांग्रेस इस घटना पर चुप नहीं बैठेगी।

https://www.bharatkhabar.com/sattarghat-mahasetu-demolished-in-bihar-gopalganj/

अतिक्रमण से हटाए गए दलित दंपति ने पीया कीटनाशक

दरअसल गुना शहर में जगनपुर क्षेत्र में एक सरकारी मॉडल कॉलेज की जमीन पड़ी थी जिस पर दंपत्ति अतिक्रमण के चलते दुकान लगाते थे। वहीं से पुलिस के जबरन हटाए जाने के बाद दंपति ने कीटनाशक खाकर आत्महत्या करने की कोशिश की जिसके बाद दोनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। फिलहाल दोनों की हालत में पहले से ज्यादा सुधार है।

क्या है मामला

गुना में मॉडल कॉलेज के निर्माण के लिए शासकीय कॉलेज प्रबंधन को जगनपुर चक क्षेत्र में 20 बीघा जमीन आवंटित की गई थी। जमीन पर काफी लंबे समय से गब्बू पारदी नाम के व्यक्ति का कब्जा था। कुछ समय पहले राजस्व और पुलिस की टीम ने मिलकर अतिक्रमण हटवा दिया था। हालांकि विभाग की लापरवाही के चलते जमीन पर निर्माण नहीं हो सका। इसकी वजह से अतिक्रमणकारियों ने दोबारा जमीन को घेरना शुरू दिया था।

Related posts

सेंट्रल विस्टा: दिल्ली हाईकोर्ट ने निर्माण कार्य पर रोक लगाने के किया इनकार, याचिकाकर्ता पर लगाया जुर्माना

Saurabh

मकर संक्रांति पर श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी, प्रशासन ने की चाक-चौबंद व्यवस्था

Aman Sharma

बिहार: मस्जिद परिसर में स्थित मदरसे में भीषण विस्फोट, ध्वस्त हुई इमारत

pratiyush chaubey