November 30, 2022 11:35 am
Breaking News featured देश राज्य

शिवानी सिंह के हाथ में राफेल फाइटर जेट की कमान

Shivani Singh
  • भारत खबर || नई दिल्ली

शिवानी सिंह राफेल उड़ाने वाली भारत की पहली महिला हैं। अपने देश की रक्षा करने के लिए भारतीय नारी अपनी कड़ी मेहनत व कौशल के कारण एक नवीन शक्तीकरण का जीता जागता उदाहरण बन रही हैं।  भारतीय वायु सेना में तैनात वाराणसी की रहने वाली शिवानी सिंह-Shivani Singh के हाथों राफेल फाइटर जेट-Rafael Fighter Jet की कमान सौंपी जा रही है। बताते चलें कि शिवानी सिंह दुनिया की सर्वोत्तम श्रेणी में युद्ध विमान राफेल जेट को उड़ाने में भारत की पहली महिला हैं।

Shivani Singh उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले में रहने वाली हैं।  Shivani Singh ने  2017 मेंअपनी शिक्षा बनारस हिंदू  विश्वविद्यालय से प्राप्त की। अब वह अपने देश की रक्षा के लिए वायु  सैनिक के रूप में सदैव तत्पर हैं।  भारतीय सेना के पास लड़ाकू विमान उड़ाने वाली 10 महिला पायलट हैं।  भारतीय वायु सेना का कहना है कि एक पायलट को ट्रेनिंग देने में लगभग  15 से 17 करोड़ का खर्च आता है। 

Shivani Singh
Shivani Singh

वायुसेना के संरक्षण में अभी Shivani Singh  को कन्वर्जन की ट्रेनिंग मिल रही है। इसके पूरे होते ही वह राफेल की उड़ान भरेंगी। फिलहाल उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले में रहने वाली राफेल पायलट लेफ्टिनेंट शिवानी सिंह अंबाला बेस पर 17 ‘गॉल्डन एरोज’ स्क्वैड्रन में औपचारिक एंट्री लेंगी। इससे पहले शिवानी  मिथ्री 40 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से दुनिया का सबसे तेज चलने वाला लैंडिंग टेकऑफ स्पीड वाला विमान उड़ा चुकी है। 

Shivani Singh ने अभिनंदन के साथ संभाली मिग फाइटर की कमान

शिवानी सिंह-Shivani Singh भारत के जांबाज विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान के साथ मेक फाइटर प्लेन की कमान बखूबी तौर से संभाल चुकी हैं।  फ्लाइट लेफ्टिनेंट शिवांगी सिंह पहले राजस्थान के फॉरवर्ड फाइटर बेस पर तैनात थीं जहां उन्होंने विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान के साथ उड़ान भरी थी। 

इसी के साथ-साथ उन्होंनेबालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद भारतीय हवाई सीमा में घुसने की कोशिश कर रहे पाकिस्तानी फाइटर जेट का पीछा कर रहे अभिनंदन वर्तमान का मिग-21 विमान ही पाकिस्तानी सीमा में जा गिरा था।  जिस कारण पाकिस्तान ने अभिनंदन वर्तमान को बंदी बना लिया था।  लेकिन भारत के सेना मंत्री की  कड़ी चेतावनीयों व अंतरराष्ट्रीय दबावों के कारण पाकिस्तान  ने उन्हें सम्मान स्वरूप रिहा  किया था।

Related posts

दिल्ली में लागू नहीं होगा ऑड-ईवन फार्मुला, सरकार ने बदला फैसला

Rani Naqvi

राकेश टिकैत का बड़ा ऐलान, कहा किसानों की दसवीं की रस्म तक यदि समझौते पर नहीं हुआ अमल तो होगा बड़ा आंदोलन

Neetu Rajbhar

पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन होंगी मध्य प्रदेश की नई राज्यपाल

Breaking News