featured देश

शशि थरूर ने दिया कंगना को जवाब, कहा- मैं चाहता हूं कि सभी महिलाएं हो आप जितनी सशक्त

SHASHITHAROOR शशि थरूर ने दिया कंगना को जवाब, कहा- मैं चाहता हूं कि सभी महिलाएं हो आप जितनी सशक्त

शशि थरूर ने कंगना रनौत के उस ट्वीट का जवाब दिया है जिसमें उन्होंने होम-मेकर्स को भुगतान के लिए उनके और कमल हासन के आइडिया को खारिज कर दिया था. उनके दावों का मुकाबला करते हुए अभिनेत्री ने ट्वीट कर कहा था कि गृहिणी के काम पर एक कीमत नहीं लगाई जानी चाहिए और महिलाओं को अपने बच्चों को मां बनाने या अपने भागीदारों से प्यार करने के लिए ‘वेतन’ पाने की जरूरत नहीं है.

कंगना ने किया था विरोध
अभिनेत्री कंगना रनौत ने मंगलवार को अभिनेता-राजनेता कमल हासन द्वारा घरेलू काम को वेतनभोगी पेशे के रूप में मान्यता देने के लिए दिए गए प्रस्ताव का विरोध किया. कंगना ने कहा कि ये उसकी रचना के लिए भगवान को भुगतान करने की कोशिश की तरह होगा.

घरेलू काम को एक प्रोफेशन का दर्जा देने और सैलरी फिक्स किए जाने के कमल हासन और कांग्रेस लीडर शशि थरूर के सुझाव का कंगना रनौत ने विरोध किया है. एक्ट्रेस ने दोनों के सुझाव को गलत करार देते हुए कहा कि लिंग के आधार पर प्राइस टैग न लगाएं. हम प्यार के साथ इस काम को कर रहे हैं. अपने ही छोटे से किंगडम और अपने घर की हम क्वीन हैं, हर चीज को बिजनेस के तौर पर न देखें. अपनी महिला के समक्ष सरेंडर करें वह आपको चाहती है, न कि सिर्फ प्यार, सम्मान और सैलरी.

शशि थरूर ने दिया जवाब
कंगना को जवाब देते हुए थरूर ने कहा कि हालांकि वो उनके साथ सहमत हैं, कि कोई भी गृहिणी कई चीजों के लिए मूल्य टैग नहीं लगा सकती. इस विचार का बड़ा इरादा भारतीय महिलाओं को सशक्त बनाना है. उन्होंने कहा कि मैं @KanganaTeam से सहमत हूं कि वहां एक गृहिणी के जीवन में बहुत सारी चीजें है जो कीमत से परे हैं, लेकिन ये उन चीजों के बारे में नहीं है. यह अवैतनिक काम के मूल्य को पहचानने और भी हर औरत के लिए एक बुनियादी आय सुनिश्चित करने के बारे में है. उन्होंने ट्वीट किया कि मैं चाहता हूं कि सभी भारतीय महिलाएं आप जितनी सशक्त हों.

थरूर द्वारा अभिनेता-राजनेता कमल हासन की गृहिणी के लिए वेतन देने की योजना को समर्थन देने के बाद कंगना और थरूर के बीच बहस छिड़ी. पिछले महीने हासन ने गृहिणी को भुगतान का वादा किया था- कंप्यूटर के साथ-साथ सभी घरों में हाई-स्पीड इंटरनेट और किसानों को कृषि उद्यमियों में बदलाव-अगर उनकी पार्टी एमएनएम को 2021 तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में सत्ता में वोट दिया जाता है.

पिछले महीने शुरू किए गए हासन की पार्टी के सात सूत्री एजेंडे को पढ़ें तो गृहिणी को वेतन प्रदान करने का उद्देश्य घर पर अपने काम के लिए उचित मान्यता देना था, जो अब तक गैर मान्यता प्राप्त और अबोधकृत किया गया है. इस प्रकार हमारी महिलाओं की गरिमा को बढ़ा रहा है.

Related posts

सीएम मनोहर पर्रिकर का बड़ा बयान, ‘नहीं होने देंगे गोवा में बीफ की कमी’

Pradeep sharma

गुजरात: बीजेपी के लिए नाक का सवाल, क्या टूटेगा कांग्रेस के वनवास ?

Pradeep sharma

केदारनाथ फिल्म के विरोध में कांग्रेस और भाजपा,कहा प्रतिबंधित होनी चाहिए फिल्म

mahesh yadav