वैज्ञानिकों की भविष्यवाड़ी,वो दिन दूर नही जब सूरज हमेशा के लिए अस्त हो जाएगा  

एक ऐसी प्रक्रिया ग्रहों की निहारिका (प्लेनेटरी नेब्युला) के अनुसार , वैज्ञानिकों का दावा है कि कुछ समय बाद सूर्य हमेशा के लिए अस्त हो जाएगा। हालांकि कई साल तक वैज्ञानिक इस बारे में निश्चित नहीं थे कि हमारी आकाशगंगा में मौजूद सूरज भी इसी तरह से खत्म हो जाएगा।

 

प्रतीकात्मक फोटो

वैज्ञानिकों ने विकसित किया नया ग्रह

किसी तारे का जीवन काल जानने के लिए के लिए वैज्ञानिकों की टीम ने डेटा-प्रारूप वाला एक नया ग्रह विकसित किया, जो किसी तारे के जीवनचक्र का अनुमान लगा सकता है। अभी तक सूरज के बारे में माना जाता रहा कि इसका भार इतना कम है कि इससे साफ दिख सकने वाले ग्रहों की निहारिका बन पाना मुश्किल है। लेकिल नए ग्रह की खोज के बाद यह संभव है।

ऐसे लगाएं काजल, देखा बोल्ड और ग्लैमरस लुक

ब्रिटेन की यूनिवर्सिटी ऑफ मैनचेस्टर की एलबर्ट जिलस्त्रा

एलबर्ट जिलस्त्रा ने कहा कि जब एक तारा खत्म होने की कगार पर होता है तो वह अंतरिक्ष में गैस और धूल का एक गुबार छोड़ता है जिसे उसका एनवलप कहा जाता है। यह एनवलप तारे के भार का करीब आधा हो सकता है। उन्होंने बताया, ‘तारे के भीतरी गर्म भाग के कारण ही उसके द्वारा छोड़ा गया एनवलप करीब 10,000 साल तक तेज चमकता हुआ दिखाई देता है। इसी से ग्रहों की निहारिका साफ दिखाई पड़ती है। नए प्रारूपों में दिखाया गया है कि एनवलप छोड़े जाने के बाद तारे तीन गुणा ज्यादा तेजी से गर्म होते हैं। इससे सूरज जैसे कम भार वाले तारों के लिए चमकदार निहारिका बना पाना आसान हो जाता है।